शराब व्यापारी के घर रुका था विकास दुबे

0
274
उज्जैन।=कानपुर के बिकरू गांव में शूटआउट मामले के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के गिरफ्तार होने के मामले में उज्जैन के एक शराब कारोबारी की भूमिका भी शंका के घेरे में है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार विकास उज्जैन में इसी व्यापारी के घर रुका था। उज्जैन पुलिस ने शराब कारोबारी को भी पूछताछ के लिए उठाया है। बताया जा रहा है कि यह कारोबारी विकास का परिचित है और चित्रकूट का रहने वाला है।
विकास की गिरफ्तारी के बाद से ही उज्जैन में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है और बारीकी से चेकिंग की जा रही है। शहर भर में पुलिस टीमें दबिश भी दे रही हैं। पुलिस पता कर रही है कि विकास के उज्जैन पहुंचने में किन लोगों ने उसकी मदद की है।
विकास दुबे की उज्जैन से गिरफ्तारीः महाकाल मंदिर में प्रसाद बांटने वाले ने बताई पूरी कहानीएमपी में उज्जैन के महाकाल मंदिर से यूपी के गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद मंदिर के अंदर प्रसाद बांटने वाले गोपाल सिंह कुशवाह ने पूरी कहानी बताई। मंदिर के अंदर दुबे ने कुशवाह से कुछ पूछने की कोशिश की, इसी दौरान सिक्योरिटी गार्ड की उस पर नजर पर गई। इसके बाद पुलिस की मदद से उसे अरेस्ट कर लिया गया।

इसी दौरान शराब कारोबारी के विकास से संपर्क होने की जानकारी मिलने पर पुलिस ने उसे उठाया है। जानकारी के अनुसार गैंगस्टर विकास से उज्जैन आईजी राकेश गुप्ता, एसपी मनोज सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी लगातार पूछताछ कर रहे हैं। इस दौरान उसने कई महत्वपूर्ण जानकारियां भी दी हैं।

पुलिस अधिकारी के थप्पड़ के बाद शांत हो गया विकास दुबे, देखें वीडियोयूपी के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार हो गया है। गिरफ्तारी के बाद भी उसका अकड़ कम नहीं हुआ है। वह उज्जैन पहुंच कर शान से फोटोग्राफी करवा रहा था। उज्जैन पुलिस ने जब उसे गाड़ी में बैठा रही थी, तब उसने फिर से ताव दिखाया। उसने पुलिस को धमकी भरे लहजे में कहा कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला। उस वीडियो में साफ दिख रहा है कि विकास की अकड़ कम नहीं हुई है। वह उज्जैन पुलिस के सामने भी धौंस जमा रहा है। गर्दन पकड़ जब उज्जैन पुलिस उसे गाड़ी के अंदर ले जा रही थी, तब वह कहता है कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला। तभी पीछे मौजूद एक पुलिस अधिकारी उसे जोरदार थप्पड़ मारता है और कहता है कि चुप रह, आवाज मत निकाल। उसके बाद वह गाड़ी के अंदर पहुंचा।

दूसरी ओर महाकाल मंदिर परिसर में लगे कैमरों के साथ ही शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। इसके जरिए विकास के उज्जैन पहुंचने के साथ ही वह इस दौरान कहां गया और किस स्थान पर रुका इस तरह के सवालों के जवाब तलाशे जा रहे हैं।