बिहार में अब वीडिओ वॉर तेजस्वी और जेडीयू आमने सामने

0
25

पटना: =बिहार में तेजस्वी यादव पर पर  जेडीयू  नेता और मंत्री नीरज कुमार ने इशारों में हमला किया। अब तेजस्वी ने सत्ताधारी  मंत्री पर गंभीर आरोप लगा दिए हैं। लेकिन इसके बदले में  उन्होंने  ने पलटवार करते हुए तेजस्वी पर वीडियो घोटाले का इल्जाम लगा दिया है।
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव  ने एक वीडियो को री-ट्वीट करते हुए राज्य के भवन निर्माण मंत्री  अशोक चौधरी  पर गाली देने का आरोप लगाया है। तेजस्वी ने ट्वीट किया है कि- भगवान आदरणीय नीतीश कुमार जी को सदबुद्धि दें। सब जानते है गाली के शब्द नीतीश जी के है लेकिन मुँह किसी और का। वो दिन भर हमें करोड़ों गालियाँ दें और दिलवाए लेकिन कृपया विधि व्यवस्था ठीक कर बिहार को उद्योग, बेरोजगार युवाओं को नौकरी, श्रमिकों को रोज़गार, सम्मान और राशन अवश्य दें। तेजस्वी को ट्वीट के  बाद जेडीयू  के प्रवक्ता निखिल मंडल ने इस बयान का ऑरिजनल वीडियो पोस्ट किया है। निखिल का आरोप है कि अशोक चौधरी ने गाली नहीं दी बल्कि शोषित बोलने में थोड़ा लड़खड़ाए जिस पर तेजस्वी ने वीडियो घोटाला ही कर डाला। गाली-गलौज देना ये सब संस्कार राजद का रहा हैं.10 जून को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर पलटवार करते हुए कहा था कि खुद कहां रहता है भाग करके, पार्टी के लोगों को भी पता नहीं है। उन्होंने कहा कि हमको कहता है बाहर नहीं निकले हैं। लॉकडाउन लागू है, पूरे देश में कहा जा रहा है कि बाहर नहीं निकलें। प्रतिदिन एक-एक चीज की समीक्षा और सारा काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि खुद कहां रहता है भाग करके इसका कोई ठिकाना नहीं है, पार्टी के लोगों को भी पता नहीं है।

बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार ने  आरोप लगाया कि  तेज प्रताप जब महज चार साल के थे, तभी आरजेडी प्रमुख ने उनके नाम पर, लोगों से नौकरी के बदले जमीन लिखवा ली थी। जेडीयू नेता ने इस दौरान जमीन संबंधी कुछ दस्तावेज भी दिखाए और ये आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि साल 1989 में पैदा हुए तेज प्रताप के नाम पर लालू ने 1993 में फुलवरिया के लोगों से नौकरी के बदले जमीन लिखवा ली, जिसमें खरीदार के रूप में तेजप्रताप यादव और तरुण कुमार यादव का नाम दर्ज है। तब तेज प्रताप की उम्र केवल चार साल थी।