उपचुनाव के पहले कमलनाथ को घेरने शिवराज सरकार की पूरी तैयारी

0
57

छिंदवाड़ा = मध्य प्रदेश में आगामी दिनों में होने वाले उपचुनावों में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्य्मंत्री कमलनाथ को घेरने की पूरी  तैयारी  शिवराज सिंह सरकार कर रही है  कमलनाथ अपने सांसद बेटे नकुलनाथ के साथ छिंदवाड़ा पहुंच गए हैं। वहीं, सिंधिया भी 1 जून को पहुंच रहे हैं। कमलनाथ  के  छिंदवाड़ा  पंहुचने के बाद   शिवराज सरकार ने वहां के विकास कार्यों की फाइलें खोल दी हैं।  उपचुनाव से पहले सरकार कमलनाथ को उलझाए रखना चाहती है। पिछली सरकार के कामो की जांच के लिए बनी मंत्री समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि छिंदवाड़ा के विकास कार्यों की फाइलें खुलेंगी। सरकार आखिर के 6 महीने में कमलनाथ की सरकार ने जो निर्णय लिए थे, उसकी जांच करवा रही है। मंत्री समूह के सदस्य और कृषि मंत्री कमल पटेल ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि कांग्रेस की सरकार में 100 में से 75 फीसदी बजट सिर्फ छिंदवाड़ा में खर्च किया गया है। अगर नियम के विरुद्ध कार्य हुए होंगे तो दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।
हालांकि कांग्रेस ने कहा है कि हम लोग हर जांच के तैयार हैं। घोटालेबाजों को हर चीज में घोटाला ही आता है। कांग्रेस ई-टेंडर मामले को लेकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा पर भी तंज कसा है। वह खुद जांच के दायरे में थे।
उल्लेखनीय है की लोकसभा चुनाव से पहले भी कमलनाथ के सहयोगियों के आवास पर आईटी के छापे पड़े थे। चुनाव के दौरान इसे बीजेपी ने खूब उछाला था। अब विधानसभा उपचुनाव से पहले भी शायद बीजेपी कमलनाथ को घेरना चाहती है। कमलनाथ को जांच की आंच में उलझाना चाहती है। ताकि उपचुनाव में पार्टी की राह आसान हो जाए। क्योंकि कांग्रेस उपचुनाव भी कमलनाथ के नेतृत्व में ही लड़ेगी। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी कमलनाथ ही हैं।