51 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है भारत में तापमान

0
55

नई दिल्‍ली =इस साल  उत्तर और मध्य भारत में पिछले कई दिनों से लू जारी है और साथ ही कई जगहों पर तापमान 47 डिग्री सेल्सियस से अधिक रह रहा है। दिल्‍ली में तो गर्मी ने पिछले 18 साल का रेकॉर्ड तोड़ा है। राजस्‍थान के चुरू का पारा मंगलवार को 50 डिग्री दर्ज किया गया। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग  ने अगले 24 घंटे तक उत्तर और मध्य भारत के कई हिस्सों में लू चलने की आशंका जाहिर की है। अगर एक-दो दिन और ऐसी ही गर्मी पड़ी तो भारत में नया रेकॉर्ड बन सकता है। दरअसल भारत में अबतक का सर्वाधिक तापमान 51 डिग्री है जो 2016 में फलोदी में दर्ज किया गया था। मौसम विभाग ने कहा कि विदर्भ, पश्चिम राजस्थान में अलग-अलग जगह पर भीषण लू चलने की आशंका है। हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिम उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों तथा पंजाब, बिहार, झारखंड, ओडिशा, सौराष्ट्र और कच्छ, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा, तेलंगाना के सुदूर इलाकों और कर्नाटक के उत्तरी आतंरिक इलाकों में अगले 24 घंटे तक लू चलने की आशंका है।
चुरू का पारा जिस तरह से बढ़ रहा है, उससे 2016 का रेकॉर्ड टूटने का डर है। वहां पिछले दो दिन से तापमान 50 डिग्री पर बना हुआ है। अगर वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस का असर जल्‍द नहीं दिखा तो पारा 51 डिग्री भी छू सकता है। राजस्‍थान के कई जिलों में 47-48 डिग्री तापमान दर्ज हो रहा है।

शहर राज्‍य तापमान (डिग्री सेल्सियस)
चुरू राजस्‍थान 50.0
बां उत्‍तर प्रदेश 48.0
हिसार हरियाणा 48.0
नई दिल्‍ली दिल्‍ली 47.6
बीकानेर राजस्‍थान 47.6
गंगानगर राजस्‍थान 47.0
झांसी उत्‍तर प्रदेश 47.0
पिलानी राजस्‍थान 46.9
नागपुर महाराष्‍ट्र 46.8
सवाई माधोपुर राजस्‍थान 46.8


फलोदी थार रेगिस्‍तान के बफर जोन में पड़ता है। यह साल में सिर्फ 10 इंच बारिश देखने को मिलती है। मार्च से अक्‍टूबर के बीच यहां भयंकर गर्मी पड़ती है। इस दौरान औसत तापमान 40 डिग्री से ऊपर ही रहता है। 2016 में 18 मई से 21 मई के बीच यहां का तापमान 51 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया था जो भारत में सबसे गर्म जगह का रेकॉर्ड है। इसे ‘साल्‍ट सिटी’ भी कहते हैं क्‍योंकि यहां नमक की इंडस्‍ट्री है।