शादी की सालगिरह मनाने पर इंदौर नागर निगम का अफसर निलंबित

0
83

इंदौर,= मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में लागू कर्फ्यू के दौरान बिना अनुमति के अपनी शादी की सालगिरह की कथित पार्टी मनाना एक सरकारी अधिकारी को महंगा पड़ा है। पार्टी का वीडियो सामने आने के बाद इस अधिकारी को सरकारी सेवा के नियम-कायदों और सामाजिक दूरी बनाने की हिदायतों के उल्लंघन के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। इंदौर नगर निगम  आयुक्त प्रतिभा पाल ने इस मामले में अनुशासनात्मक कदम उठाते हुए निगम के जोनल अधिकारी चेतन पाटिल को निलंबित कर दिया है।अधिकारी ने बताया कि आईएमसी प्रशासन तक एक वीडियो पहुंचने के बाद इस आरोप का संज्ञान लिया गया है कि पाटिल ने कर्फ्यू के दौरान विजय नगर क्षेत्र के एक सभागृह में अपनी शादी की सालगिरह की पार्टी आयोजित की जबकि इस आयोजन के लिये उन्हें कोई भी अनुमति नहीं दी गयी थी। उन्होंने बताया कि इस पार्टी में सामाजिक दूरी की हिदायतों का भी कथित तौर पर उल्लंघन किया गया।उन्होंने बताया कि मामले में आयुक्त द्वारा जोनल अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। लेकिन इसका संतोषजनक जवाब प्राप्त नहीं होने पर अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है और उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू की गयी है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय ‘ट्रेंचिंग ग्राउंड’ रहेगा।सोशल मीडिया पर सामने आये वीडियो में दावा किया गया है कि पाटिल की शादी की सालगिरह के मौके पर पार्टी आयोजित की गयी थी। इसमें शामिल लोग कराओके सिस्टम पर गाते, नाचते और ताली बजाते नजर आ रहे हैं। वीडियो में देखा जा सकता है कि पार्टी में शामिल कुछ मेहमानों ने मास्क पहन रखे हैं, जबकि कुछ लोग कोविड-19 से बचाव के इस जरूरी उपाय को अपनाये बगैर ही महफिल का मजा ले रहे हैं। कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण प्रशासन ने इंदौर की शहरी सीमा में 25 मार्च से कर्फ्यू लगा रखा है।इंदौर जिले में इस महामारी के मरीजों की संख्या बढ़कर 2,850 पर पहुंच गयी है। इनमें से 109 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि इलाज के बाद 1,280 लोग महामारी से स्वस्थ चुके हैं।