मशहूर अदाकार इरफ़ान खान दुनिया से रुखसत हो गए

0
61
बॉलिवुड के मशहूर   इरफान खान अब  नहीं रहे। शाम करीब 4 बजे उन्हें अंतिम विदाई दे दी गई। जनाने की नमाज के बाद इरफान खान के पार्थिव शरीर को यारी रोड, वर्सोवा के कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-ख़ाक किया गया। उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए वहां उनके परिवार के कुछ लोग मौजूद थे। इस मौके पर ज्यादा भीड़ की इजाजत नहीं थी, इसलिए बॉलिवुड से कुछ ही लोग इस जनाजे में शामिल हो पाए। उनके करीबियों में से एक विशाल भारद्वाज, तिग्मांशु धूलिया के अलावा राजपाल यादव, कपिल शर्मा और मीका सिंह जैसे कुछ सिलेब्रिटीज नजर आए।
इरफान को पिछले हफ्ते मुंबई के हॉस्पिटल में  आईसीयू  में भर्ती किया गया था। उनके निधन की खबर ने हर किसी के दिल को झकझोर दिया और कई सितारे उनके जनाजे में शामिल भी होना चाहते थे, लेकिन यह संभव नहीं थी। कोरोना को ध्यान में रखते हुए मुंबई पुलिस ने सख्ती बरती जिसमें केवल 20 लोगों को ही शामिल होने की इजाजत दी गई थी। हालांकि, वहां यारी रोड के आसपास रहने वाले कुछ लोग भी खुद को रोक न सके और उनके अंतिम दर्शन के लिए वहां पहुंचने लगे थे, जिनसे पुलिस वहां से वापस जाने को भी कहती दिखी।

हालांकि पहले से ही मुंबई पुलिस की ओर से स्पष्ट कर दिया गया था कि सभी फिल्म ऐक्टर्स यहां शामिल नहीं हो सकते ताकि कोरोना के संकट की इस घड़ी मे भीड़ न इकट्ठी हो।इरफान के जनाजे में काफी कम सिलेब्रिटीज शामिल हुए। विशाल भारद्वाज के अलावा कपिल शर्मा, मीका सिंह जैसे स्टार्स भी यहां पहुंचे।उनके जनाजे में केवल 20 लोगों के शामिल होने की परमिशन मुंबई पुलिस की तरफ से दी गई है।
मुंबई पुलिस की निगरानी और कड़े बंदोबस्त में ऐक्टर के पार्थिव शरीर को सुपुर्द-ए-ख़ाक किया गया। उन्हें अंधेरी के यारी रोड, वर्सोवा कब्रिस्तान में दफनाया गया है। बता दें कि पिछले दो साल से बॉलिवुड स्टार इरफान खान न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से जूझ रहे थे और आखिरकार वह इस बीमारी को मात नहीं दे पाए। आखिरकार इस खतरनाक बीमारी ने उन्हें हमलोगों से हमेशा के लिए छीन लिया।
 दो साल पहले साल 2018 में ही उन्हें पता चला था कि वह न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर जैसी खतरनाक बीमारी से जूझ रहे हैं। इसके बाद लंदन में लगभग एक साल तक उनका इलाज चलता रहा। पिछले साल सितम्बर में वह मुंबई लौटे थे, हालांकि तब भी वह पूरी तरह से स्वस्थ नजर नहीं आ रहे थे। उन्होंने अपने चेहरे का स्कार्फ से ढक रखा था और वील चेयर पर नजर आ रहे थे। 2 महीने पहले यानी होली के पहले उनकी तबीयत फिर से बिगड़ गई थी, बस उसके बाद लगातार उनकी तबीयत बिगड़ती गई। अभी 10 दिन पहले जब उनकी परेशानी और ज्यादा बढ़ गई, तब उन्हें कोकिलाबेन में ऐडमिट करवाया गया था। इस बार हॉस्पिटल में वह अपनी बीमारी से बहुत संघर्ष कर रहे थे और आखिरकार उन्होंने हार मान ली।

..