कोरोना का डर,मोबाइल एप्प के जरिए खाना आर्डर करना भी बंद कर दिया

0
278

पटना = कोरोना वायरस के खतरे के देखते हुए पटना के लोगों ने रेस्टोरेंट में जाना बंद कर दिया है। आलम यह है कि अधिकांश लोगों ने कोरोना का डर,मोबाइल एप्प के जरिए खाना आर्डर करना भी बंद कर दिया | samachar-vichar है। लोग घर पर ही खाना बनाने को प्राथमिकता दे रहे हैं।आशियाना कॉलोनी में रहने वाली रचना कुमारी का कहना है कि उन्हें अपने दोस्तों के साथ रेस्टोरेंट में जाकर खाना खाने का बहुत शौक है। मगर पिछले कुछ समय से कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए उन्होंने रेस्टोरेंट जाना छोड़ दिया है। साथ ही बाहर से भी खाना आर्डन नहीं कर रही है। उनका कहना रेस्टोरेंट में बनने वाले खाने की गुणवत्ता पर भरोसा नहीं है। उधर, हनुमान नगर में रहने वाले कमलेश कुमार सिन्हा का कहना है कि महामारी के इस दौर में रेस्टोरेंट से खाना न मंगाने में ही समझदारी है। उनका कहना है कि उन्होंने आनलाइन किए गए कपड़े व अन्य सामान के आर्डर को भी कैंसल कर दिया है। कई इलाकों में सुरक्षा गार्डों को केवल संपर्क रहित डिलीवरी की अनुमति देने के लिए कहा गया है। बोरिंग कैनल राड के निवासी सुरसंजना सिंह ने कहा कि सुरक्षा गार्डों को किसी भी पार्सल को प्राप्त करते समय पूरी सुरक्षा का ध्यान रखने के लिए कहा गया है।
एक प्राइवेट कंपनी के डिलीवरी ब्वॉय मुकेश का कहना है कि उन्होंने आजतक होम डिलीवरी में इतनी कमी नहीं देखी है। उनका कहना है वह सामान्य दिनों में 12 सामान की डिलीवरी करते थे, मगर आजकल 3 डिलीवरी भी मुश्किल से हो पा रही है। शहर के रेस्टोरेंट मालिकों का कहना है कोरोना वायरस के चलते 85 फीसदी होम डिलीवरी कैंसल करनी पड़ रही है। बेली रोड स्थित एक फूड शॉप के मालिक निशांत का कहना है कि रोजाना 8 से 9 लोग ही रेस्टोरेंट में खाना खाने पहुंच रहे हैं। ऐसे मेें आर्थिक स्थिति प्रभावित हो रही है।