गायिका कनिका कपूर के खिलाफ बिहार में भी परिवाद दायर

0
231

मुजफ्फरपुर=कोरोनावायरस संक्रमण जानबूझकर छिपाने की आरोपी गायिका कनिका कपूर के खिलाफ बिहार की एक अदालत में एक परिवाद (शिकायत) पत्र दायर किया गया है। बिहार के मुजफ्फपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (पश्चिमी) की अदालत में को गायिका कनिका के खिलाफ स्थानीय वकील सुधीर कुमार ओझा ने परिवाद पत्र दाखिल किया है।
परिवाद पत्र में आरोप लगाया गया है, ‘‘गायिका कनिका कपूर 10 मार्च को एयर इंडिया के विमान से लंदन से मुंबई पहुंचीं, वहां से लखनऊ , और फिर 13 से 15 मार्च के बीच तीन पार्टियों में भी गईं, जिसमें 300 लोग शामिल हुए। इसमें राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया व उनके पुत्र दुष्यंत सिंह और अन्य साथ थे।
वीआइपी कल्चर का लाभ उठाकर आरोपित गायिका ने जानबूझकर लापरवाही बरती। जानकारी छुपाकर इतने बड़े कोरोनावायरस संक्रमण को फैलाने का काम किया। काफी लोग भयभीत हो गए हैं।’’ परिवाद पत्र में कहा गया है कि यह सब साजिश के तहत किया गया।
ओझा ने बताया कि परिवाद पत्र में भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270 और 120 बी के तहत आरोप लगाते हुए कार्रवाई का अनुरोध किया गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले की अगली सुनवाई की तिथि 31 मार्च मुकर्रर की गई है। उल्लेखनीय है कि इस मामले में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी कनिका के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
कनिका कपूर पर भड़कीं सोना महापात्रासिंगर कनिका कपूर को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। कनिका पर कोरोना पॉजिटिव होने की बात छिपाए जाने के आरोप में एफआईआर भी दर्ज की गई है। इस मामले पर कई बॉलिवुड सिलेब्रिटीज के रिऐक्शंस भी सामने आ रहे हैं। ज्यादातर लोगों ने कनिका के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। हालांकि कुछ लोगों ने लापरवाही के लिए कनिका की आलोचना भी की है।
कनिका के खिलाफ हजरतगंज और गोमती नगर थानों में दो और मुकदमे दर्ज हो सकते हैं। वह इन इलाकों में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल हुई थीं। गृह विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने लखनऊ में बताया कि राज्य सरकार ने कनिका के गत 13, 14 और 15 मार्च को होली के सिलसिले में आयोजित हुए कार्यक्रमों की जांच के आदेश देते हुए लखनऊ जिला प्रशासन से 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने बताया कि इन कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले लोगों की पहचान कर उन्हें पृथक रखने और उनकी स्वास्थ्य संबंधी सभी आवश्यक जांच सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए गए हैं।