निर्भया रेप केस के आरोपियों का व्यवहार बदला

0
202

नई दिल्ली = फांसी की तारीख और वक्त तय होने के बाद निर्भयारेप केस के दोषियों की हालत खराब है। चारों के बर्ताव में बदलाव आया है। चारों में से तीन हिंसक होते जा रहे हैं, वहीं चौथा बिल्कुल शांत बैठा रहता है। ऐसे में दोषी मुकेश सिंह को उसकी मां से मिलने की इजाजत दी गई। सजा के ऐलान के बाद से दोषी मुकेश सिंह थोड़ा अजीब व्यवहार कर रहा था।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के मुताबिक मिली जानकारी के मुताबिक, मां के मुलाकात के वक्त मुकेश भावुक हो गया और कई बार रोया भी। इसके बाद मां ने उसे क्यूरेटिव और दया याचिका के विकल्प का भरोसा दिया, तब जाकर वह शांत हुआ। मिली जानकारी के मुताबिक, बातचीत में मुकेश ने मां से अपने पिता और भाई के बारे में बात की।
जेल अधिकारियों के मुताबिक, अभी यह आखिरी मुलाकात जैसा नहीं था। नियमों के मुताबिक, उन्हें हफ्ते में दो बार परिवार से मिलने की इजाजत दी गई है। फांसी से पहले आखिरी मुलाकात कब होगी इसकी जानकारी परिवार को दे दी जाएगी। फांसी के बाद परिवारवाले दोषियों से जुड़ा सामान लेकर जा सकेंगे।
जेल सूत्रों के मुताबिक, निर्भया के चारों दोषियों ने फिलहाल जेल में किसी से भी बात करना बंद कर दिया है। चारों के व्यवहार में बदलाव भी आया है। मुकेश अक्षय, पवन तो बुधवार को जेल कर्मी से किसी बात पर बहस भी करने लगे थे। हाथापाई तक की नौबत आ गई थी। यह झगड़ा खाने को लेकर हुआ था। वहीं चौथा दोषी विनय शर्मा फिलहाल शांत है। उसने एक सेल में मानों खुद को कैद कर लिया है।
फांसी से पहले जेल प्रशासन पूरी तरह तैयार है। चारों का मन शांत रखने के लिए धार्मिक किताबों मुहैया करवाई जाएंगी। उनका हेल्थ चेकअप करवाया जा रहा है। ऐसा इसलिए कि फांसी के लिए उनका वजन ठीक होना चाहिए।