आईएमए क्रिकेट प्रतियोगिता में डॉ.एम.पी.मिश्रा एकादशविजयी

0
133

जबलपुर मध्य प्रदेश =विगत दिवस आईएमए क्रिकेट प्रतियोगिता के अंतर्गत 2 मैच खेले गए। पहले मैच में डॉ.एस.सी.बराट एकादश ने डॉ.टी.एन.छत्तानि एकादश को 8 विकेट से हराया जबकि दूसरे मैच में आखरी गेंद पर छक्का मार कर ने डॉ.ए.पी.सोनी एकादश को 3 विकेट से हराया।

दिन के पहले मैच में डॉ.बराट एकादश के कप्तान सुनील बहल ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। विनय छत्तानि के 78 रनों की मदद से डॉ.छत्तानि एकादश ने 121 रनों के स्कोर बनाया। प्रणव असाटी ने 4, सुनील बहल ओर फरहान अंसारी ने 2-2 ओर अभिषेक श्रीवास्तव ने 1 विकेट लिए।

जबाव में बराट एकादश ने लक्ष्य मात्र 16.1 ओवरों में 2 विकेट खो कर प्राप्त कर लिया।आतिफ अंसारी ने 41, फरहान अंसारी ने नाबाद 32 ओर राजन गॉडविन ने नाबाद 28 रन बनाए। विनय छत्तानि ओर अर्पित जैन को 1-1 सफलता प्राप्त हुई।

दूसरे मैच में रोमांच आखरी गेंद तक बना रहा। डॉ.मिश्रा एकादश के कप्तान संजय मिश्रा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। डॉ.सोनी एकादश ने निर्धारित ओवरों में 116 रनों के स्कोर खड़ा किया। एक समय सोनी एकादश के पहले 5 खिलाड़ी मात्र 40 रनों पर आउट हो गए थे। उसके बाद राहुल साहू ओर शाहजहां अंसारी ने 29-29 रन बनाकर टीम को सम्मान जनक स्थिति में पहुंचाया। विभोर हज़ारी ने 20 रनों का योगदान दिया। आशीष टण्डन ने 3, अंकित शर्मा और ललित मोहन पटेल ने 2-2 तथा लखन बैस ओर वेदांत सरकार को 1-1 विकेट मिला।

जबाव में खेल की आखिरी गेंद पर निशिन जैन ने छक्का जड़कर मैच अपनी टीम के नाम किया। आशीष टण्डन ओर अनुराग साहू ने 31-31 रन बनाए।
शाहजहां अंसारी ओर विभोर हज़ारी को 2-2 ओर अमन शर्मा, निसार अंसारी तथा संचय चौकसे को 1-1 विकेट प्राप्त हुआ।

सिद्धार्थ ओसवाल ओर देवेश गुप्ता ने 2-2 कैच पकड़े, पर दिन का सर्वश्रेष्ठ कैच संचय चौकसे ने अपनी ही गेंदबाजी पे लपका। अंकित शर्मा द्वारा लिया गया अमन शर्मा का कैच भी देखने लायक था!

अम्पायरिंग की भूमिका पवन सिंधिया, रामाराव, और आयुष ने निभायी। स्कोरिंग नितिन पांडे, उज्जवल और शुभम ने सम्भाली।

कमेंट्री से डॉ. सुनील बहल, डॉ. समीर हर्षे, डॉ. रूप मांडवे, डॉ. नीलकमल सुहाने ने सब को बांधे रखा।

जबलपुर कलेक्टर श्री भरत यादव, एसपी श्री अमित सिंह, मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. पी. के. कसार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनीष मिश्रा ने विधिवत क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ एक एक ओवर खेल के किया एवं खिलाडियों से परिचय प्राप्त कर उन्हें सम्मानित भी किया।