आसाराम दो हफ्ते के लिए जेल गए सेवादार शिवा भी अरेस्ट

0
206

जोधपुर- नाबालिग लड़की के यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किए गए आसाराम को जोधपुर कोर्ट ने 15 सितंबर के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इसके बाद आसाराम को जोधपुर सेंट्रल जेल ले जाया गया।इधर पुलिस ने उनके सेवादार शिवा को भी गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में यह दूसरी गिरफ्तारी है। इसके अलावा पीड़ित लड़की के छिंदवाड़ा स्थित हॉस्टल के वॉर्डन को अरेस्ट करने के लिए भी पुलिस टीम रवाना कर दी गई है।
पुलिस ने कोर्ट से आसाराम की एक दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। गौरतलब है कि इससे पहले रविवार को कोर्ट ने आसाराम को एक दिन के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया था और यह अवधि सोमवार को खत्म हो गई।
सोमवार को पुलिस ने उनके सेवादार शिवा को भी अरेस्ट कर लिया। पीड़ित लड़की ने एफआईआर में दोनों का जिक्र किया है।
उल्लेखनीय है की शनिवार रात को राजस्थान पुलिस ने इंदौर जाकर पीड़ित लड़की से यौन शोषण के आरोप में आसाराम को हिरासत में ले लिया था आसाराम के सेवादार शिवा पर पीड़ित लड़की को कुटिया तक लाने का आरोप है। शिवा से पुलिस की पूछताछ जारी थी। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने शिवा और आसाराम को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की। लेकिन शिवा के बयानों में कोई मेल नहीं दिखाई दिया। इसके बाद पुलिस ने शिवा को गिरफ्तार कर लिया।इसके अलावा पीड़ित लड़की के हॉस्टल के वॉर्डन को भी गिरफ्तार करने के लिए टीम भेजी गई है। पीड़ित लड़की ने एफआईआर में कहा है कि हॉस्टल के वॉर्डन ने उसके ऊपर प्रेतों का साया बताकर माता-पिता को जोधपुर स्थित आसाराम के आश्रम में जाने को कहा था।
जोधपुर पुलिस उपायुक्त अजयपाल लाम्बा नेबताया कि राजस्थान आर्म्ड कॉन्स्टेबलरीके केन्द्र में आसाराम से पूछताछ की जा रही है। आसाराम मानसिक और शारीरिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ हैं और जांच पूरी होने के बाद डॉक्टरों की एक टीम आसाराम के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की फिर से जांच करेगी। पूछताछ से पहले भी चिकित्सकों के एक दल ने आसाराम के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की जांच की थी और जांच में फिट पाए जाने के बाद ही उनसे पूछताछ की गई।लाम्बा ने कहा कि अगले दो-तीन घंटे में तय होगा कि अदालत में आसाराम की पुलिस रिमांड मांगी जाएगी या नहीं। यदि जांच दल का काम अगले दो तीन घंटे के दौरान पूछताछ से पूरा हो जाएगा तो उनकी पुलिस रिमांड नहीं मांगी जाएगी,लेकिन यदि पूछताछ अधूरी रहती है तो रिमांड मांगी जाएगी। उन्हेंने कहा कि यदि अगले दो-तीन घंटे में पूछताछ के दौरान कुछ तथ्य सामने आते हैं तो उनकी तस्दीक करवाने के लिए आसाराम को आरएसी विश्राम स्थल से किसी और स्थान पर ले जाया जा सकता है।