खनन माफिया से टकराई तो कुर्सी गयी

0
154

नोएडा – अवैध खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ने के लिए युवा महिला आईएएस अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल को अखिलेश सरकार ने रविवार को सस्पेंड कर दिया। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक दुर्गा को एक धार्मिक स्थल की विवादित दीवार को गिरवाने पर राजस्व विभाग भेज दिया गया।सब डिविजनल मैजिस्ट्रेट (सदर) दुर्गा नागपाल ने गौतम बुद्धनगर और नोएडा में रेत माफियाओं के खिलाफ शिकंजा कसा हुआ था। उन्होंने अवैध खनन में लगे कई डंपर सीज किए थे और कई लोगों को गिरफ्तार भी किया था।
आईएएस दुर्गा ने यमुना और हिंडन में सक्रिय खनन माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए फ्लाइंग स्क्वॉड बनाया था। पिछले दिनों इस दस्ते ने छापा मारकर 24 डंपरों को सीज भी कर दिया था। इसके बाद से ही जहां मीडिया में दुर्गा के चर्चे थे, वहीं वह खनन माफियाओं के निशाने पर आ गई थीं। दुर्गा को हटाने के लिए अखिलेश सरकार पर खनन माफियाओं का भारी दवाब था।
2009 की आईएएस अधिकारी दुर्गा ने तब कहा था, ‘खनन माफियाओं को बक्शा नहीं जाएगा। पूरे जिले में अवैध खनन की समस्या है। इसस पर्यावरण की भी गंभीर समस्या पैदा हो रही है, इसलिए इस पर लगाम लगाना जरूरी है।’ दुर्गा के कमान संभालने के बाद अप्रैल से पुलिस ने 17 एफआईआर दर्ज की थीं। 22 मामलों में चीफ जुडिशल मैजिस्ट्रेट ने रेत माफियाओं की गिरफ्तारी के आदेश जारी किए थे।