कर्णाटक में हर पार्टी का सर्वे, सब जीत रहे है

0
191

बेंगलुरु =आगामी मई में कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनाव में हर राजनीतिक दलों ने अपने अपने स्तरपर चुनावी सर्वेक्षण जवाये हैऔर मजे की बात तोये है की सभी दाल अपनी अपनी जीत के दावे करते दिखाई दे रहे है
कर्नाटक में हर राजनीतिक दल ने कम से कम तीन से पांच स्वतंत्र सर्वे करवाए हैं जो उनकी जीत की संभावना सुनिश्चित कर सकें। जहां अपने सर्वे को लेकर कांग्रेस और जेडी (एस) सामने आए हैं, वहीं बीजेपी नेताओं ने अपने सर्वे को लेकर पत्ते नहीं खोले हैं। सत्तारूढ़ कांग्रेस अपनी वापसी को लेकर आश्वस्त है और कथित रूप से खुद सीएम सिद्धारमैया का सर्वे इस दावे पर मुहर लगाता दिख रहा है। चुनावी सर्वे करने वाली एक कंपनी सी फोर के करवाए इस सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को राज्य में 126 सीटों के साथ बहुमत मिलेगा। यह आंकड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी को टक्कर देने में लगी कांग्रस का मनोबल जरूर बढ़ा रहे हैं।
बेंगलूर मिरर की खबर के मुताबिक खास बात यह है कि सिर्फ सीएम का सर्वे ही नहीं, कांग्रेस के अन्य नेताओं ने भी सर्वे करवाया है कि उनकी पार्टी 100 का आंकड़ा पार कर रही है या नहीं। इसके अलावा एक तीसरी सर्वे रिपोर्ट राज्य के इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट का है जो बीजेपी को भी ठीक-ठाक सीटें देते हुए मान रहा है कि कांग्रेस को 75 से 85 के आसपास सीटें मिलेंगी। अपने सर्वे की रिपोर्ट का बचाव करते हुए जी परमेश्वरा ने कहा, ‘मैं हमारी पार्टी के नेताओं द्वारा करवाए गए सर्वे को लेकर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। मेरी अपनी सर्वे रिपोर्ट के हिसाब से हम जीत रहे हैं और स्वतंत्र सरकार बनाएंगे।’ परमेश्वरा ने कहा कि मेरे सर्वे में हर विधानसभा क्षेत्र के 1000 मतदाताओं को शामिल किया गया है और 2013 में भी इसकी मदद से हमें कहा गया था कि हम 122 के करीब सीटें जीतेंगे। हालांकि आत्मविश्वास से लबरेज परमेश्वरा ने अपने सर्वे के आंकड़े बताने से इनकार कर दिया।
, मिशन-150 के नारे के साथ राज्य में जोर-शोर से उतरी बीजेपी ने अपने सर्वे को लेकर कोई जानकारी साझा नहीं की, लेकिन उसके लिए 100 के आंकड़े तक पहुंचना मुश्किल नजर आ रहा है। इसके बावजूद पार्टी के बड़े नेताओं और चुनाव की तैयारियों में लगे नेताओं का मानना है कि राज्य में उन्हें अच्छी बढ़त मिलने जा रही है और सेंट्रल इंटेलिजेंस सर्वे के हिसाब से पार्टी को 100 से 105 सीटें मिल सकती हैं। एक सर्वे फर्म के सीईओ का मानना है कि राज्य में नरेंद्र मोदी और अमित शाह के कैंपेन का असर भी जरूर पड़ने वाला है। बीजेपी के एक नेता ने कहा, ‘पार्टी में किसी को भी सर्वे के आंकड़े नहीं पता हैं। जहां भी कोई कमी है, वे (बड़े नेता) सुधार के लिए काम कर रहे हैं और कार्यकर्ताओं को भी सुझाव दे रहे हैं।’
जेडी (एस) चुपचाप काम करती नजर आ रही है और दोनों ही दलों को चौंकने के लिए तैयार है। जेडी(एस) के सूत्रों का कहना है कि उनकी एजेंसियों के हिसाब से पार्टी को 75 से 80 सीटें मिल सकती हैं। पार्टी के नेता 100 सीटों के आंकड़े को छूने के लिए मेहनत कर रहे हैं। एचडी कुमारस्वामी ने कांग्रेस के सर्वे को लेकर कहा, ‘हमें सी फोर के सर्वे से कोई फर्क नहीं पड़ता। हम ये आंकड़े उलट देंगे। हम अपनी गलतियों से ओल्ड मैसूर में हारे थे, इस बार ऐसा नहीं होगा।’