केजरीवाल के माफीनामे से आम आदमी पार्टी में भूचाल

0
242

चंडीगढ़ =दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अकाली दल के नेता बिक्रम मजीठिया से माफी मांगने को लेकर शुरू हुआ बवाल अब थमने का नाम नहीं ले रहा। केजरीवाल माफी मांगने को लेकर अपनों के साथ-साथ विपक्ष के निशाने पर भी आ गए हैं। भगवंत मान ने इसके बाद पंजाब पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया है तो वहीं पंजाब आप में भी इसे लेकर नाराजगी दिख रही है। विपक्ष ने भी उनके माफी मांगने को लेकर सवाल उठाए हैं। केजरीवाल ने ड्रग रैकेट से जुड़े आरोप लगाने पर मजीठिया से लिखित माफी मांगी है।
आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी केजरीवाल से असहमति जताई। उन्होंने कहा, केजरीवाल की मजीठिया से माफी को लेकर कई लोग नाखुश हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि न्याय मिलेगा क्योंकि बीएस मजीठिया जैसे लोग जेल में होने चाहिए।’ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने भी केजरीवाल को घेरते हुए कहा, ‘मजीठिया से माफी मांगकर केजरीवाल ने बुजदिली दिखाई है। यह पंजाब के लोगों के साथ धोखा है। मुझे लगता है कि केजरीवाल ने पंजाब में आम आदमी पार्टी की हत्या कर दी है, मानो उनका अस्तित्व मिटा दिया गया हो। वे अब पंजाब में ड्रग्स के खिलाफ किस मुंह से बात करेंगे?’
वहीं केजरीवाल के माफी मांगने को अकाली दल नेता हरसिमरत कौर बादल ने अच्छा कदम बताया है। हरसिमरत ने ट्वीट में लिखा है, ‘वाहेगुरु जी की कृपा से आखिरकार सच सामने आ गया। अरविंद केजरीवाल ने बिक्रम सिंह मजीठिया पर ड्रग से जुड़े झूठे आरोप लगाने को लेकर लिखित माफी मांग ली है। सच की देर से ही सही, जीत जरूर होती है।’
आम आदमी पार्टी की पंजाब यूनिट भी अकाली नेता से माफी मांगने को लेकर नाराज है। पंजाब से आप विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल सिंह खैरा ने भी ट्वीट कर कहा, ‘अरविंद केजरीवाल के माफी मांगने से हम पूरी तरह स्तब्ध हैं। हमें इस बात को स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं है कि हमसे इस बारे में कोई चर्चा नहीं की गई।’
इससे पहले कुमार विश्वास ने भी केजरीवाल पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट में लिखा था, ‘हम उस शख्स पर क्या थूकें जो खुद थूक कर चाटने में माहिर है!’ आप के पंजाब प्रभारी और सांसद भगवंत मान ने भी प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। भगवंत मान ने कहा है कि पंजाब के ड्रग माफिया और भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई आम आदमी के रूप में जारी रहेगी।