अन्ना गांधी के बाद अब काटजू ने जे पी को मूर्ख कहा

0
214

नई दिल्ली -देश-दुनिया के मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने लोकनायक जय प्रकाश नारायण की 113वीं जयंती पर टिप्पणी की।काटजू ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा कि लोकनायक भी महात्मा गांधी और अन्ना हजारे की तरह ही स्ट्यूपिड थे।काटजू ने जय प्रकाश नारायण के 113वीं जयंती वाले दिन ही अपने फेसबुक वाल पर एक पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने जेपी को महात्मा गांधी और अन्ना की तरह ही मूर्ख बताया।काटजू ने यहां तक लिखा कि यह तथाकथित ‘लोक नायक’ जय प्रकाश नारायण की जयंती है।काटजू ने स्टेटस की शुरुआत करते हुए लिखा कि मैं जानता हूं कि लोग मेरे इस बयान के लिए मेरी आलोचना करेंगे, लेकिन जय प्रकाश नारायण के बुद्धि के बारे में मेरी बड़ी ही खराब राय है।काटजू के मुताबिक दरअसल समस्या के समाधान के लिए उनके पास कोई वैज्ञानिक विचार नहीं थे।काटजू के स्टेटस के मुताबिक 1954 में जेपी एक और मूर्ख विनोवा भावे के शिष्य बन गए। उन्होंने लिखा कि इस बात में कोई शक नहीं है कि उन्होंने इंदिरा गांधी के खिलाफ एक बड़े आंदोलन की अगुवाई की लेकिन जब जनता पार्टी सत्ता में आई तो क्या हुआ?’संपूर्ण क्रांति’ गायब हो गई और अपने पीछे अपने लालू यादव, नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी, राम बिलास पासवान जैसे शिष्यों को छोड़ गई जिन्होंने बिहार को बर्बाद कर दिया।