जूतों के लिए खून के प्यासे हुए पांच सौ लोग

0
26

शारजाह – महज एक जोड़ी जूतों के लिए 500 लोग एक-दूसरे के खून के प्यासे हो गए? इतना ही नहीं इस एक जोड़ी जूतों के लिए 3 लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी? यह घटना ऐसी है कि इसके बारे में सुनने वाला हर शख्स हैरान रह गया। एक जोड़ी जूतों पर अपना हक जताने के लिए 500 लोग लड़ पड़े। लड़ाई इस हद तक पहुंच गई कि 3 लोगों की मौके पर मौत हो गई जबकि कई गंभीर रूप से घायल हो गए।
हैरानी की बात है कि ये जूते न तो महंगे थे और न ही ऐसे खास जूते थे जिनकी कोई विशेष आर्थिक या सामाजिक वैल्यू हो। ये तो साधारण सेफ्टी शूज थे जिन्हें कामगार काम के वक्त पहनते हैं। दरअसल साधारण से जूतों की खातिर 500 लोगों की यह लड़ाई शारजाह में छिड़ी।
शारजाह के लेबर कैम्प इंडस्ट्रियल एरिया 1 में कई एशियाई लोग काम करते हैं, जिनमें अधिकतर बांग्लादेश और पाकिस्तान के हैं। यहां कुछ बांग्लादेशी लोगों के सेफ्टी जूते पहनने पर दूसरे पक्ष के लोगों ने आपत्ति जताई। उनका कहना था कि इन जूतों पर उनका हक है। इसी को लेकर बात बिगड़ती चली गई और भयंकर खून-खराबा हो गया। पूरे संघर्ष में 3 लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से इस झगड़े को काबू में किया। हादसे के बाद शारजाह पुलिस ने इस कैंप में कार्यरत सभी 500 कर्मचारियों को इस लड़ाई में शामिल होना मानकर सभी को दोषी माना है।

समाचार के साथ दिखाया चित्र केवल प्रतीकात्मक है