सांसो से पता लग सकेगा शुगर लेवल का

0
73

ब्रिटेन की वेस्टर्न न्यू इंग्लैंड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक ऐसे ब्रेथएनलायजर का विकास किया है जो दो नैनोमीटर (पॉलीमर्स) से लैस है ये पॉलीमर्स सांस में मौजूद एसीटोन के जरिए ब्लड शुगर का लेवल बता सकते हैं। एसीटोन, कीटोन्स की एक किस्म है शरीर में कीटोन्स तब इस्तेमाल होता है, जब शरीर में इंसुलिन का लेवल कम होने लगता है इंसुलिन की मात्रा कम होने से शरीर में शुगर का स्तर बढ़ने लगता है और इसका पता सांसों में मौजूद एसीटोन से चल जाता है।वैज्ञानिकों का कहना है कि इस डिवाइस पर अभी काम चल रहा है। इसके प्रामाणिक तौर पर बाजार में आने से शुगर का लेवल नापने के लिए शरीर से खून लेने की जरूरत खत्म हो जाएगी वैज्ञानिकों का कहना है कि इस डिवाइस के परिणाम संतोषजनक रहे हैं। यह अभी एक किताब के आकार की है इसे छोटे साइज का बनाने के लिए काम जारी है। इसका विकास करने वाले साइंटिस्ट्स को भरोसा है कि 2015 तक यह बाजार में आ जाएगी।यह डिवाइस जैसे उन देशों के लोगों के लिए राहत लेकर आएगी, जहां एक्सरसाइज की कमी और अनहेल्दी खानपान के कारण डायबीटीज के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। भारत में अभी करीब सवा छह करोड़ लोग इस रोग की चपेट में आ चुके हैं।पूरी दुनिया में अभी करीब 29 करोड़ लोग डायबीटीज के शिकार हैं।