पूनम पांडे ने शिल्पा शेट्टी के पति पर क्रिमिनल केस किया

0
121

मुंबई = मशहूर अभिनेत्री मॉडेल पूनम पांडे नेअभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा और उनके सहयोगी के खिलाफ क्रिमिनल केस किया है। पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज न किए जाने के बाद उन्होंने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उधर, कुंद्रा ने कहा है कि वह दिसंबर 2019 में ही संबंधित कंपनी को छोड़ चुके हैं।
पूनम पांडे का आरोप है कि देश और बाहर से बार-बार आ रहे कॉल से वह परेशान हो गई हैं। उन्होंने कहा कि पिछले साल जून में एक टैगलाइन (कॉल मी, आई स्ट्रिप फॉर यू ) के साथ उनके ऐप पर लीक हो गया था। उनका दावा है कि इस ऐप को राज कुंद्रा की कंपनी ही संचालित कर रही थी।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया में [प्रकाशित खबरके मुताबिक पांडे का दावा है कि उन्होंने एक महीने बाद ही अपने ऐप और कुंद्रा की कंपनी के साथ करार खत्म कर दिया था। उनका आरोप है कि अनुबंध खत्म होने के बावजूद उनके ऐप को सक्रिय रखा गया और उनका व्यक्तिगत नंबर जारी किया गया। पूनम का कहना है कि इसी कारण से अभी तक उन्हें कॉल आते हैं।
टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में पूनम पांडे ने कहा, ‘मैंने मार्च 2019 में मेरे नाम से एक ऐप बनाने के लिए कंपनी का सहयोग लिया था। ऐप द्वारा होने वाली कमाई में से एक निश्चित रकम पर हमारी सहमति भी बनी थी। हालांकि, मुझे बाद में लगा कि यह करार गलत हुआ है तो मैंने तुरंत इसे खत्म कर दिया। मैंने मेल के जरिए कंपनी को इसकी जानकारी भी दी।’
उन्होंने आगे कहा, ‘इसके बावजूद वे ऐप पर मेरी तस्वीर और विडियो डालते रहे। इतना ही नहीं उन्होंने मेरे पर्सनल मोबाइल नंबर के साथ कई तरह के मैसेजेज भी वायरल किए। इसमें कुछ गंदी बातें भी थीं। जैसे-‘मुझे कॉल करिए मैं अभी फ्री हूं।’, ‘आइए, मुझसे बात कीजिए, मैं आपके लिए कपड़े उतारूंगी। मुझे दिन भर में सैकड़ों नहीं हजारों ऐसे कॉल्स आने लगे। मेरा जीवन मुश्किल हो गया। तब मैंने कंपनी के खिलाफ जाने का निर्णय लिया।’
पूनम पांडे ने कहा, ‘यहां तक कि लोग मुझे अश्लील तस्वीरें और पॉर्न विडियो तक भेजने लगे। इस कारण से मुझे तीन महीने के लिए देश भी छोड़ना पड़ा। मुझे लगा कि चीजें ठीक हो जाएंगी। पर, मैं जैसे ही लौटी, यह सब फिर शुरू हो गया। इसके बाद मैंने नया नंबर लिया और कुंद्रा के एक सहयोगी सौरभ कुश्वाहा को फोन किया और उन्हें ऐप बंद करने के लिए कहा। इसके बाद मेरे नए नंबर पर भी ऐसे ही फोन आने लगे।’
पण्डे पूनम पण्डे ने ने यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने पुलिस के सामने 7 दिसंबर 2019 को बयान दर्ज कराया था। लेकिन पुलिस ने कुंद्रा और उनकी कंपनी पर कार्रवाई करने से मना कर दिया। इसके बाद उन्हें हाई कोर्ट जाना पड़ा।