नृत्यगोपालदास पर अभद्र टिप्पणी, परमहंस दस को हटाया

0
101

अयोध्या = अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के महत्वपूर्ण फैसले के बाद अब नया विवाद शुरू हो गया है। रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास पर अशोभनीय टिप्पणी करने के आरोपी परमहंस दास को तपस्वी छावनी मंदिर से हटा दिया गया है। तपस्वी छावनी मंदिर के महंत सर्वेश्वर दास का आरोप है कि परमहंस दास का असली नाम उदय नारायण दास है और खुद को फर्जी तरीके से मंदिर का महंत बताते रहे हैं।
महंत सर्वेश्वर दास ने यह भी कहा कि परमहंस दास को कभी लिखित में महंत नहीं बनाया गया है। दरअसल अयोध्या में संत समुदायों के बीच प्रसारित एक कथित ऑडियो क्लिप से घमासान मच गया है। इस कथित ऑडियो क्लिप में राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले रामविलास वेदांती कह रहे हैं कि वह मंदिर ट्रस्ट का प्रमुख बनना चाहते हैं।
उधर वाराणसी पहुंचे परमहंस दास ने कहा कि अगर कुछ देर और पुलिस ना पहुंचती तो राम जन्मभूमि न्यास परिषद के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के गुंडे उनकी हत्या कर देते। ऑडियो क्लिप के सामने आने के बाद नृत्यगोपाल दास के समर्थकों ने परमहंस का घेराव भी किया और पथराव की घटनाएं भी सामने आई थीं। नृत्यगोपाल दास के समर्थकों ने जमकर बवाल किया और तपस्वी छावनी पहुंचकर घेराबंदी कर दी थी। इसके बाद कड़ी सुरक्षा में परमहंस को पुलिस ने बाहर निकाला था। ऑडियो क्लिप में वेदांती, तपस्वी छावनी के प्रमुख महंत परमहंसदास से ट्रस्ट के प्रमुख के लिए अपना नाम प्रस्तावित करने के लिए कह रहे हैं। दोनों नृत्य गोपाल दास के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करते सुने जा सकते हैं। हालांकि, ऑडियो क्लिप का अभी तक सत्यापन नहीं किया जा सका है।