कोलकाता में बवाल रिमझिम मित्रा हियासत में

0
113

कोलकाता = कोलकाता में पुलिस और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष हुआ है। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। कोलकाता पुलिस ने बीजेपी नेता रिमझिम मित्रा को हिरासत में ले लिया। दूसरी तरफ, जब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो चक्रवात ‘बुलबुल’ से प्रभावित इलाकों का दौरा करने निकले तो टीमएसी कार्यकर्ताओं ने उन्‍हें काले झंडे दिखाए।
अभिनेत्री रह चुकीं बीजेपी नेता रिमझिम मित्रा बुधवार को कोलकाता में ‘डेंगू मुक्त कोलकाता’ समेत अनके मांगों को लेकर कोलकाता नगर निगम कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर रही थीं। उनके साथ बड़ी संख्‍या में बीजेपी कार्यकर्ता भी थे। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर वॉटर कैनन का प्रयोग किया साथ ही लाठीचार्ज भी किया। बीजेपी नेता रिमझिम मित्रा का कहना था, ‘हम अपनी मांगों के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। हमने प्रदर्शन से पहले इसकी अनुमति भी ले ली थी। पुरुष पुलिसकर्मियों ने मेरे साथ धक्का मुक्की की, हमें हिरासत में ले लिया गया।’
दूसरी तरफ, केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो जब चक्रवात ‘बुलबुल’ से प्रभावित इलाकों में स्थिति का जायजा लेने बुधवार को दक्षिण 24 परगना पहुंचे तो उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा और लोगों के एक समूह ने उन्हें वापस जाने के लिए कहा। सुप्रियो ने दावा किया कि प्रदर्शनकारी सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता थे। उन्होंने मंगलवार को बताया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे पश्चिम बंगाल में चक्रवात प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए कहा है।
बाबुल सुप्रियो के काफिले को चक्रवात से सबसे अधिक प्रभावित इलाकों में से एक नमखाना पहुंचने के फौरन बाद प्रदर्शनकारियों ने रोक दिया और उन्हें काले झंडे दिखाए। केंद्रीय मंत्री ने स्पष्ट किया कि वह जमीनी हकीकत का जायजा लेने जिले में आए हैं लेकिन इसके बावजूद प्रदर्शनकारियों ने उन्हें वापस जाने के लिए कहा।