ंभाई दूज से दिल्ली में महिलाओं के लिए डीटीसी की बसें फ्री

0
47

नई दिल्ली = राजधानी दिल्ली में महिलाएं भाई दूज से डीटीसी और कलस्टर बसों में फ्री सफर कर सकेंगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह भी ऐलान किया कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए बसों में 13 हजार मार्शलों की तैनाती भी होगी, जिसके लिए भर्तियां हो चुकी हैं। दिल्ली में बसों से सफर करनेवाले यात्रियों में एक तिहाई महिलाएं हैं, सबको इससे फायदा होगा।
फ्री सफर करने के लिए महिलाओं को गुलाबी रंग का सिंगल जर्नी पास लेना होगा। यह पास कंडक्टर से ही मिलेगा। इसके लिए महिला सवारी को कोई पैसा नहीं देना है। दिल्ली-एनसीआर में चलने वाली कोई भी डीटीसी (एसी, नॉन एसी), कलस्टर बस में सफर फ्री होगा।
यह फ्री सफर दिल्ली-एनसीआर में चलनेवाली सभी डीटीसी और कलस्टर बसों में मिलेगा। इसके लिए महिला का दिल्ली की होना जरूरी भी नहीं है। दिल्ली-एनसीआर एरिया में सभी महिलाओं के लिए यह सफर फ्री ही है। यह स्कीम फिलहाल मार्च 2020 तक लागू रहेगी।
प्रत्येक पास के लिए दिल्ली सरकार डीटीसी को 10 रुपये देगी, ताकि इससे डीटीसी का घाटा न हो। प्लान के मुताबिक, प्रत्येक दिन 10 लाख पिंक पास इशू किए जाएंगे। 29 अक्टूबर तक 1.5 करोड़ फ्री पास प्रिंट करवाए जा रहे हैं। डीटीसी बसों के लिए 1 करोड़, डिम्ट्स के तहत चलने वाली क्लस्टर बसों के लिए 40 लाख और नई आ रही स्टैंडर्ड फ्लोर बसों के लिए 10 लाख पास प्रिंट किए जा रहे हैं।
दिल्ली में फिलहाल 5500 से ज्यादा बसें चल रही हैं। इसमें 3800 के करीब डीटीसी और 1600 से ज्यादा कलस्टर बसें शामिल हैं। हर रोज डीटीसी बसों में औसतन 31 लाख और क्लस्टर बसों में 12 लाख लोग सफर करते हैं और इनमें से करीब 30 फीसदी महिला यात्री होती हैं।