211 जोड़े थामेंगे एक दूसरे का हाथ-बिरसा मुंडा की जयंती पर होगा आदिवासी सम्मेलन

0
97

,जबलपुर।मध्य प्रदेश = अखिल भारतीय शबरी महासंघ के तत्वावधान में आगामी
15 नवंबर को विशाल आदिवासी सम्मेलन एवं सामूहिक आदर्श विवाह महायज्ञ
कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम जवाहरलाल नेहरू
विश्वविद्यालय के क्रीड़ांगन में संपन्न होगा। उक्ताशय की जानकारी मध्य प्रदेश शासन की पूर्व
मंत्री कौशल्या गोंटिया ने एक प्रेसवार्ता के दौरान
दी। उन्होंने बताया कि इस आयोजन में देश, प्रदेश से करीब एक लाख आदिवासी
भाई-बहन जुटेंगे। आदर्श सामूहिक विवाह समारोह में 211 युगलों का विवाह का
लक्ष्य रखा गया है।
पूर्व मंत्री में कहा कि कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री
कमलनाथ, रा’यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह, एमपी प्रभारी दीपक बावरिया और
प्रभारी मंत्री प्रियव्रत सिंह से मौखिक सहमति प्राप्त हो चुकी है, ये
सभी समारोह में शामिल होंगे। पूर्व मंत्री कौशल्या गोंटिया ने बताया कि
शबरी महासंघ 1999 से लगातार आदिवासी सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। इस
दौरान हजारों जोड़ों का विवाह कराया गया है। इस बार 211 जोड़े शामिल करने
का लक्ष्य है। सभी जोड़ों को विवाह योजना के तहत 51 हजार रुपए की राशि
शासन से दिलवाने का प्रयास किया जाएगा।
कौशल्या गोंटिया ने बताया कि आज भी आदिवासी समाज पिछड़े पन का शिकार है।
जिनको मुख्यधारा से जोड़ने के लिए इस तरह के आयोजन किए जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों से सैकड़ों की संख्या में बच्चियां
गायब हैं। मानव तस्करी के इन मामलों पर सरकार का ध्यान खींचा जाएगा, ताकि
इन बच्चियों को बचाया जा सके। प्रेसवर्ता के दौरान पुंजीलाल गोंटिया,
रोशनलाल कोल, मगन सिंह भूमिया, जितेन्द्र गोंटिया, शिवप्रसाद गोंटिया आदि
उपस्थित रहे।