हाईकोर्ट की टिप्पणी, सरकार पर से हमारा भरोसा उठ गया है

0
216

चेन्नई = अवैध होर्डिंग के कारण एक 24 साल की युवती की मौत के मामले में मद्रास हाई कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है। हाई कोर्ट ने इस मामले में स्वतः संज्ञान लेते हुए कहा है कि हमारा सरकार से भरोसा उठ गया है। देश में किसी की जान की कोई कीमत नहीं रह गई है। दूसरी ओर मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है। डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने पार्टी से संबंधित किसी कार्यक्रम के विज्ञापन के लिए बैनर, पोस्टर या फ्लैक्स के इस्तेमाल से बचने की सलाह दी है।
ऑफिस से घर जाते वक्त एआईएडीएमके की होर्डिंग की चपेट में आने से एक सॉफ्टवेयर इंजिनियर सड़क पर गिर गई और पीछे से आ रहे तेज रफ्तार टैंकर ने उसे रौंद दिया जिससे युवती की दर्दनाक मौत हो गई। मामले पर टिप्पणी करते हुए मद्रास हाई कोर्ट ने कहा कि वह अवैध फ्लैक्स बोर्ड के खिलाफ कई बार आदेश पारित करके थक चुकी है। जस्टिस सेशासायी ने कहा, ‘इस देश में किसी के जीवन के लिए सम्मान शून्य हो चुका है। यह ब्यूरोक्रेसी की संवेदनहीनता है। माफ कीजिएगा हमारा सरकार से भरोसा उठ गया है।’
युवती की मौत पर सियासत शुरू हो गई है। डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा, ‘मैं डीएमके काडर के सामने बार-बार दोहरा चुका हूं कि पार्टी से जुड़े कार्यक्रमों के विज्ञापन के लिए बैनर, फ्लेक्स और पोस्टर वगैरह के इस्तेमाल से बचा जाए। अनुमति मिलने पर सिर्फ एक या दो का इस्तेमाल ही किया जा सकता है। जो लोग इसका उल्लंघन करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी और मैं उस कार्यक्रम में भी शामिल नहीं होऊंगा।’
वहीं एआईएडीएमके के नेता के. सत्यन ने कहा, ‘एक पार्टी पदाधिकारी ने अपने फैमिली फंक्शन के लिए बैनर लगवाया था जिसके चलते एक जान चली गई। हमारे नेताओं ने समय-समय पर काडरों को संदेश भेजकर बैनर न लगाने को कहा है क्यंकि यह कानून के खिलाफ है। एआईएडीएमके ने बयान जारी कर कहा, ‘काडर को ऐसे बैनर और पोस्टर नहीं लगाने चाहिए जिससे लोगों को असुविधा हो। कुछ अतिउत्साही काडर सोसायटी और आम लोगों पर प्रतिकूल असर को जाने बिना बैनर और पोस्टर लगा देते हैं।’
आर सुभाश्री कांथाचेवदी में चेन्नै में एक सॉफ्टवेयर फर्म में काम करती थी। वह सुबह छह बजे ऑफिस गई थी और दोपहर दो बजे शिफ्ट पूरी होने के बाद ऑफिस से निमिलीचेरी, क्रोमपेट स्थित अपने घर जा रही थी। पल्लवरम थोरइपक्कम रेडियल रोड पर सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके का एक होर्डिंग अवैध रूप से लगाया जा रहा था। होर्डिंग गिरने से सुभाश्री अपनी स्कूटी से फिसल गई और पीछे से आ रहे पानी के टैंकर ने उसे रौंद दिया।