रविशंकर प्रसाद और उनके सहयोगियों पर मारपीट का आरोप

0
89

पटना =पटना की अदालत मेंबीजेपी का ‘ कार्यकर्ता’ बताने वाले एक व्यक्ति ने केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, उनके निजी सहायक, बीजेपी के दो विधायकों और अन्य लोगों के खिलाफ गुरुवार को मुकदमा दर्ज कराया है। उसने इन लोगों पर पिछले महीने जयप्रकाश नारायण हवाई अड्डा परिसर में अपने साथ मारपीट करने और लूट का आरोप लगाया है।
शिकायतकर्ता संजीव वर्मा ने रविशंकर प्रसाद, विधायक अरुण कुमार सिन्हा और नितिन नवीन, कानून मंत्री के पीए संजीव कुमार सिंह और पांच अन्य लोगों के अलावा 10 अनाम लोगों को आरोपी के रूप में नामित किया है। वर्मा ने आरोप लगाया है कि वह गत 23 मार्च को हवाई अड्डे पर थे, जब पटना साहिब सीट से बीजेपी के उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद रविशंकर पहली बार शहर में आए थे। कुछ बीजेपी समर्थक घटनास्थल पर मौजूद थे जो केंद्रीय मंत्री को उम्मीदवार घोषित किए जाने से नाराज थे।
शिकायतकर्ता ने दावा किया है कि वह अपने कुछ दोस्तों जो कि ‘पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता’ हैं, के साथ घटनास्थल पर मौजूद थे। वे लोग उन आंदोलनकारियों के साथ किसी भी तरह से नहीं जुड़े थे जिन्होंने ‘रविशंकर प्रसाद वापस जाओ’ जैसे नारे लगाए और काले झंडे लहराए। वर्मा ने आरोप लगाया है कि जब रविशंकर के समर्थक हिंसक हो गए तो वह और उनके सहयोगी खुद को बचाने के लिए उस जगह से दूर जाने लगे पर मंत्री और दोनों विधायकों ने उनका पीछा करने और उन पर हमला करने के लिए अपने समर्थकों को उकसाया।
वर्मा का कहना है कि रविशंकर की उम्मीदवारी का विरोध का साहस करने का आरोप लगाते हुए समर्थकों ने उन्हें पकड़ लिया, कई घूंसे मारे और गालियां दीं। शिकायतकर्ता ने यह भी आरोप लगाया कि हमलावरों ने उनसे 3500 रुपये छीन लिए। पुलिस ने बाद में उनकी लिखित शिकायत पर विचार करने से इनकार कर दिया और जब वह पार्टी कार्यालय गए, तो उन्हें पदाधिकारियों द्वारा आश्वासन दिया गया कि उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।
मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी कुमार गुंजन ने मामले की सुनवाई की तारीख 22 अप्रैल निर्धारित करते हुए शिकायतकर्ता को व्यक्तिगत तौर पर उपस्थित होने का निर्देश दिया।