नवादा से ही चुनाव लड़ने के लिए अड़े गिरिराज सिंह

0
55

पटना =आगामी महीनो में होने वाले लोकसभा के आम चुनावों में एनडीए में घटक दलों की नाराजगी थी, अब सीट बंटवारे पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह नाराज चल रहे हैं। बताया जा रहा है कि पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व कथित रूप से बिहार के नवादा संसदीय सीट को एनडीए की घटक दल राम विलास पास्ड़वन की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी को देने पर सहमत हो गया है। इस सीट का प्रतिनिधित्व गिरिराज सिंह करते हैं।
मीडिया की खबरों के अनुसार नवादा की सीट एलजेपी को दे दी गई है। और , एलजेपी ने इस सीट पर दावेदारी की बात शुरू कर दी है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी नवादा से चुनाव लड़ेगी और पार्टी ने मुंगेर सीट को छोड़ दिया है।
एलजेपी नेता ने कहा, इसका फैसला बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान के बीच बैठक में लिया गया। नेता के मुताबिक एलजेपी को गठबंधन के साथी जेडीयू के लिए मुंगेर की सीट छोड़ने के बदले नवादा सीट दी जाएगी। बताया जा रहा है कि गिरिराज सिंह को बेगूसराय सीट की पेशकश की गई है, जहां से जेएनयू छात्र संघ के पूर्व नेता कन्हैया कुमार सीपीआई पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ सकते हैं। यहां कन्हैया कुमार को महागठबंधन समर्थन करेगी।
जबकि , ‘गिरिराज सिंह इसके लिए तैयार नहीं हैं और इस पेशकश को ठुकरा दिया है। वह नवादा से चुनाव लड़ने के लिए अड़ गए हैं।’
अपने विवादास्पद बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले सिंह से मीडिया से दूरी बनाए हुए हैं। वह खराब स्वास्थ्य की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संकल्प रैली में शामिल नहीं हो सके थे। उनके करीबी बीजेपी नेता ने कहा कि वह वायरल बुखार से पीड़ित हैं। इससे पहले सिंह ने कहा था कि जो पटना में 3 मार्च को मोदी की रैली में शामिल नहीं होगा, इसका मतलब होगा की वह पाकिस्तान का समर्थन करता है। इस बयान के बाद वह खुद ही इस रैली में शामिल नहीं हो सके थे, जिसके बाद विपक्षी पार्टियों ने उन पर कटाक्ष भी किया था।