सबरीमाला के श्रद्धालु को हाथी ने कुचला बच्ची को छोड़ दिया

0
135

कोट्टायम =केरल में एक व्यक्ति को जंगली हाथी ने कुचलकर मौत के घाट उतार दिया। यह पूरी घटना व्यक्ति के दोनों बच्चों की आंखों के सामने हुई, जो लाचार होकर अपने पिता को मौत के दरवाजे में जाते हुए देखते रहे। घटना उस वक्त हुई जब मृतक, अपनी फैमिली के साथ सबरीमाला मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे थे।
इस हादसे का शिकार हुए परमाशिवम (35) तमिलनाडु के सलेम के रहने वाले थे। वह सबरीमाला जाने के लिए कोरुथोड़े में मुक्कुजी के पास जंगल के पारंपरिक रास्तों से होते हुए रात के एक बजे जा रहे थे, जिस दौरान एक जंगली हाथी ने उन पर हमला कर दिया। इस हमले में परमाशिवम के दोनों बच्चे दिव्या (6) और गोकुल कृष्णा (11) चमत्कारिक तरीके से बच गए। हाथी ने बच्चों को कुछ नहीं किया।
मृतक परमाशिवम और उनका परिवार सबरीमाला के दर्शन के लिए गई 30 सदस्यीय ग्रुप का हिस्सा था। 30 में से केवल 15 ने ही जंगल के रास्ते से जाने का विकल्प चुना था। रास्ते में हाथी के हमले के समय बाकी लोग भाग गए, लेकिन परमाशिवम नहीं भाग सके क्योंकि उन्होंने अपनी बेटी को कंधे पर उठा रखा था।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हाथी ने व्यक्ति को तो मौत के घाट उतार दिया, लेकिन बच्चों को कुछ नहीं किया। परमाशिवम को मारने से पहले हाथी ने कंधों पर बैठी बच्ची को उठाकर जमीन पर रखा और फिर उसके पिता को कुचल डाला। घटना की सूचना पर वन विभाग के अधिकारी फौरन मौके पर पहुंचे और घायल को हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमॉर्टम के बाद परमाशिवम के शव को परिजनों को सौंप दिया गया।

फोटो प्रतीकात्मक है