महाराजा सुहेलदेव को लेकर राजनैतिक घमासान

0
115

लखनऊ =प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गाजीपुर रैली से पहले यूपी में बड़ा सियासी घमासान देखने को मिला। एक ओर जहां बीजेपी की सहयोगी अपना दल और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने पीएम मोदी के कार्यक्रम का बहिष्कार किया, वहीं दूसरी ओर महाराजा सुहेलदेव के उपनाम को लेकर यूपी में पिछड़ी जातियों के नेताओं के बीच मतभेद भी देखने को मिला।
एक तरफ ओमप्रकाश राजभर ने महाराजा सुहेलदेव को राजभर समाज का नेता बताया। वहीं दूसरी ओर बहराइच की सांसद सावित्री बाई फुले ने महाराजा सुहेलदेव को राजभर नहीं बल्कि पासी समाज का बताते हुए पीएम मोदी से उनके नाम के साथ पासी उपनाम जोड़कर डाक टिकट जारी करने की मांग की। यही नहीं इस मांग के साथ सावित्री बाई ने बहराइच में धरना भी दिया।
गाजीपुर में पीएम की रैली के पहले प्रदेश सरकार के मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने महाराजा सुहेलदेव के उपनाम को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा। पीएम के कार्यक्रम का बहिष्कार करते हुए राजभर की पार्टी ने कहा कि पीएम के कार्यक्रम के लिए जो निमंत्रण पत्र भेजा गया है उसपर महाराजा सुहेलदेव के नाम के साथ राजभर उपनाम नहीं लिखा गया, जो कि उक्त जातीय समाज के इतिहास को मिटाने का प्रयास है। ऐसे में इसके विरोध स्वरूप एसबीएसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और संगठन ने पीएम के कार्यक्रम के बहिष्कार करेंगे।
वहीं शनिवार को धरने पर बैठी बहराइच सांसद ने पीएम मोदी से महाराजा सुहेलदेव को पासी समाज का बताते हुए कहा कि महाराजा ने देश के सम्मान को लेकर जो लड़ाई लड़ी वह इतिहास में दर्ज है। ऐसे में देश के पासी समाज की ओर से हम पीएम से यह मांग करते हैं कि वह अगर डाक टिकट जारी करना चाहते हैं तो इसे महाराजा सुहेलदेव पासी के नाम से डाक टिकट जारी करें, जिससे कि इस समाज के लोगों को गौरव की अनुभूति हो सके।
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ‘मिशन पूर्वांचल’ के मद्देनजर आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी और इसके पड़ोसी संसदीय क्षेत्र गाजीपुर के दौरे पर पहुंचे हैं। अपने इस दौरे पर पीएम ने गाजीपुर में अरबों रुपये की परियोजनाओं की शुरुआत की। इसके अलावा पीएम ने गाजीपुर में रैली के दौरान पीएम मोदी महाराजा सुहेलदेव पर डाक टिकट भी जारी किया। सुहेलदेव का सियासी फायदा उठाने की कसरत के तहत हिंदूवादी संगठन महाराज सुहेलदेव को परम हिंदू राजा के तौर पर चित्रित करते हैं, जिन्होंने सालार मसूद जैसे मुस्लिम आक्रांताओं को हराया।