कमलनाथ मंत्रिमण्डल में जबलपुर की बल्ले बल्ले

0
553

जबलपुर = प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को बधाई और धन्यवाद कि उन्होंने बरसों से उपेक्षा का दंश भोग रहे जबलपुर केदो नेताओ को अपने मंत्रीमंडल में स्थान देकर जबलपुरके महत्त्व को स्वीकार किया लखन घनघोरिया और तरुण भनोट को लेकर ये कहा जारहा था कि इन दोनों नेताओ को मंत्रीमंडल में स्थान मिल सकता है पर गुटीय संतुलन को साधने को लेकर संशयके बादल भी तैर रहे थे पर कमलनाथ ने इनदोनो नेताओं को मंत्रीमंडल में शामिल कर इस संशय को मिटा दिया
पिछले पंदह सालो से सत्ता में काबिज बीजेपी शासन काल में जबलपुर को उसका बाजिब हक़ नहीं मिला यद्यपि ईशवर दास रोहणी vidhan सभा अध्यक्ष रहे पर वे केवलअपनी केंट विधान सभा तक हीसीमत होकर रह गए अजय विश्नोई दो बारमंत्रीमण्डल मेंशामिल रहे पर जबलपुर का कोई भला नहीं हो सका फिर शरद जैन को मंत्री मंडल में स्थान मिला पर उनकी हैसियत राज्य मंत्री की ही रही जिसकापरिणाम ये निकला की जबलपुर उन्नतिके रास्ते पर आगे नहीं बढ़ सका ना तो यंहा कोई उद्योग लग सके न रोजगार के साधनो में बढ़ोतरी हुई जबकि इंदौर और भोपाल दोनो ने काफी उन्नती कर ली इंदौर तो मिनी मुंबई कहा जाने लगा है पर जबलपुर की सूरते हाल किसी कसबे जैसी ही बानी रही अब उम्मीदहै कि तरुण और लखन के मंत्री मंडल में शामिल होने के बाद जबलपुर की तस्वीर में परिवर्तन आएगा क्योकि दोनों ही युवा है और जबलपुर के दर्द को वे बेहतर तरीके से जानते है दोनों नेताओ से उम्मीद की जाती है की वे जबलपुर को रोजगार मूलक शहर बनाने के लिए भरपूर प्रयास करेंग दोनों ही युवा नेताओ को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाये