बिहार – एनडीए में सीटों का बटवारा कल तक के लिए टला

0
101

नई दिल्ली =बिहार में एनडीए में 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे को लेकर जारी रार अब खत्म होती दिख रही है। इस बीच खबर है कि शनिवार को गठबंधन सहयोगियों के बीच होने वाला सीटों का ऐलान टल गया है। दिल्ली में एनडीए के तीन सहयोगियों बीजेपी , जेडीयू और एलजेपी की प्रस्तावित साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस अब रविवार को होने की संभावना है। इसससे पहले मैराथन बैठक और नेताओंं के बीच कई मुलाकातों के बाद बीजेपी और एलजेपी में सीटों के बंटवारे पर सहमति बन गई थी।
सूत्रों के मुताबिक अब रविवार को सुबह 11.30 बजे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के आवास पर तीनों दलों के नेताओं की बैठक होगी। इस बैठक के बाद ही सीट बंटवारे को लेकर कोई ऐलान होने की उम्मीद है। बिहार में एलजेपी के 5 लोकसभा सीटों पर लड़ने की संभावना है। इसके अलावा एलजेपी चीफ रामविलास पासवान को राज्यसभा भेजा जा सकता है।
सूत्रों के मुताबिक इस समझौते के तहत एलजेपी को एक लोकसभा सीट यूपी में भी मिलेगी। रविवार को एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर दिल्ली में अहम घोषणा हो सकती है। बताया जा रहा है कि एलजेपी के नेता इस वक्त मुंबई में हैं और इसी वजह से बैठक टल गई है। रविवार को बिहार में एनडीए में शामिल सभी पार्टियां संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी एकजुटता भी साबित करने की कोशिश करेंगी।
बिहार में एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर यह रार तब शुरू हुई जब बीजेपी और जेडीयू ने 50-50 फॉर्म्यूला के तहत बिहार में बराबर सीटों पर लड़ने की घोषणा की। तब एलजेपी को 4 और आरएलएसपी को 2 सीटें देने की तैयारी थी। इसे लेकर एनडीए में शामिल रही आरएलएसपी ने मुखर विरोध शुरू किया और बाद में मतभेद जारी रहने के साथ वह गठबंधन से अलग हो गई। उधर, गठबंधन में शामिल एलजेपी ने भी सीटों के बंटवारे पर अपने तेवर तीखे किए।
ऐसे में बिहार में गठबंधन को बचाने और एलजेपी को मनाने के लिए खुद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को खुद आगे आना पड़ा। शाह ने गुरुवार को रामविलास पासवान और चिराग को संदेश भिजवाकर घर बुलवाया और गिले-शिकवे दूर करने की कोशिश की। बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं। फॉर्म्युले के तहत जेडीयू को 18, बीजेपी को 17 और एलजेपी को 5 सीटें मिल सकती हैं।