लोगों के सब्र का बांध टूट चुका= बाबा रामदेव

0
124

हरिद्वार =विश्व हिंदू परिषद, आरएसएस और शिवसेना के अयोध्या में जमावड़े और केंद्र सरकार पर अध्यादेश लाकर राम मंदिर निर्माण को लेकर दबाव के बीच योग गुरु बाबा रामदेव ने अपना रुख जाहिर किया है। बाबा रामदेव ने कहा कि लोगों के सब्र का बांध टूट चुका है, इसलिए सरकार को कानून लाकर राम मंदिर का निर्माण करना चाहिए। रामदेव ने कहा कि ऐसा नहीं हुआ तो लोग अपने दम पर मंदिर बनाने लगेंगे और माहौल खराब होगा।
बाबा रामदेव ने यहां मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘लोग धैर्य खो चुके हैं। राम मंदिर निर्माण के लिए कानून लाया जाए वरना लोग अपने दम पर ही इसे बनाने में लग जाएंगे। अगर ऐसा होता है तो सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ सकता है। मुझे विश्वास है कि इस समय देश में राम का कोई विरोधी नहीं हैं, सभी हिंदू, मुस्लिम और ईसाई उनके ही वंशज हैं।’
इससे पहले भी बाबा रामदेव ने कहा था कि राम मंदिर का निर्माण न होने पर विद्रोह हो सकता है। उन्होंने मुजफ्फरनगर में कहा था, ‘राम मंदिर निर्माण का रास्ता सुप्रीम कोर्ट से नहीं, बल्कि संसद से साफ होगा और सरकार को इस ओर पहला कदम बढ़ाना चाहिए। लोगों के सब्र का बांध टूट रहा है। वे अब ज्यादा इंतजार नहीं कर सकते।’
रामदेव ने कहा था, ‘जब हद से ज्यादा किसी मुद्दे को दबाया जाता है और कोई समाधान नहीं निकलता है तो विद्रोह की संभावना तो बनेगी ही।’ हरिद्वार में निकाय चुनाव में मतदान के बाद पत्रकारों से बातचीत में भी बाबा रामदेव ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र भक्त हैं और राम भक्त भी।