जबलपुर की पांच विधान सभा से बीजेपी प्रत्याशी तय लिस्ट जारी हुई

0
717

दिल्ली – अंततः लम्बी ऊहापोह के बाद बीजेपी ने मध्यप्रदेश की 177 सीटों के प्रत्याशियो की लिस्ट जारी कर ही दी इस लिस्ट के जारी होने के साथ साथ ही टिकट से वंचित रह गए उम्मीदवारों के चेहरों की रौनक फीकी पड़ गई वंही उन लोगो के चेहरे खिल उठे जिन्हे इस लिस्ट में स्थान मिला गया | हम बात करते है जबलपुर की आठ विधानसभाओ के प्रत्याशियों के बारे ,अभी बीजेपी के पहली लिस्ट में जबलपुर की आठ विधान सभा इलाके में से पांच टिकटों की ही घोषणा हो सकी है तीन सेटों पर पेंच फंसा हुआ है और सबसे मजे की बात है की उत्तर मध्य से तीन बार जीत का परचम फहराने वाले स्वास्थ मंत्री शरद जैन की टिकिट भी झमेले में फांसी हुई है बताया जा रहा है की शरद जैन की टिकिट को लेकर नेताओ मेंअभी मतैक्य नहीं बन पाया है वंही पश्चिम और पाटन सीटों को लेकर भी मामला फंसा हुआ ही अभी जिन उम्मीदवारों की घोषणा हुई है उनमे पूर्व से वर्तमान विधायक अंचल सोनकर केंट से वर्तमान विधायक अशोक रोहणी पनागर से वर्तमान विधायक इंदू तिवारी सिहोरा से वर्तमान विधायक नंदनी मरावी और और बरगी से वर्तमान विधायक प्रतिभा सिंह शामिल है पाटन पश्चिम और उत्तर मध्य के उम्मीदवारों को लेकर गहन मंथन चल रहा है
जंहा तक उत्तर मध्य की बात है वर्तमान में शरद जैन इस इलाके का प्रतिनिधित्व करते हैऔर तीन बार से विधायक है पिछली सरकार में उन्हें स्वस्थ राज्य मंत्री का उत्तरदायित्व भी दिया गया था पर इस बार पहली लिस्ट में उनका नाम न होना लोगो को हैरान कर रहा है क्योकि शरद जैन हर बार ज्यादा मतों से जीत दर्ज करते आये है दरअसल इस सीट पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष धीरज पटेरिया की भी दावेदारी लम्बे अरसे से चलरही है इसलिए इन दोनोंनामों के बीच एक राय नहीं बन पा रही है रहा है वैसे शरद जैन को लेकर कोईविवाद नहीं है और न ही उनपर कोई आरोप ही है
दूसरी सीट पाटन कीहै जंहा से अभी कांग्रेस के नीलेश अवस्थी विधायक है पिछले चुनाव में उन्होंने प्रदेश शासन के मंत्री और बीजेपी के कद्दावर नेता अजय विश्नोई को हराया था बताया जा रहा है की अजय विश्नोई को फिर से इस सीट पर लड़नेकी बात पार्टी ने कही थी पर उन्होंने मना कर दिया अब वंहा आशीष दुबे का नाम सबसे ऊपर है पर लगता है इस सीट पर भी आलाकमान अभी निर्णय नहीं ले पा रहा है तीसरी सीट पश्चिम है जंहा से वर्तमान में कांग्रेस के विषयक तरुण भनोट है इन्होने बीजेपी के कद्दावर नेता हरेंद्र जीत सिंह बब्बू को हरा कर बीजेपी की ये परंपरागत सीट जीती थी इस सीट पर पूर्व महापौर प्रभात साहू आरएसएस से जुड़े शहर के मशहूर चिकित्सक डाक्टर जीतेन्द्र जामदार की उम्मीदवारी को संघ आगे बढ़ए हुए है वंही पूर्व विधायक हरेंद्र जीत सिंह सिंह को अकाली दल के नेताओ का सपोर्ट हासिल है और प्रदेश में किसी एक सिख को टिकट देने के गणित के हिसाब से इस सीट पर भी पेंच फंस गया है बीजेपी के सूत्रों का कहना है की आगामी एक दो दिनोमें इन सीटों के उम्मीदवारी का फैसला हो जाएगा जब तक निश्चित तौर पर इन नेताओ की साँसें अटकी रहेंगी