अल्पेश ने कहा हिंसा में मेरी भूमिका सामने आई तो मै खुद जेल चला जाऊँगा

0
89

अहमदाबाद = गुजरात में उत्तर भारतीयों के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप लगने के बाद कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने कहा कि अगर उन्होंने किसी को धमकी दी है तो वह खुद जेल चले जाएंगे। उन्होंने 11 अक्टूबर से सद्भावना उपवास पर जाने की भी बात कही है।दरअसल नफरत फैलाने वाला एक विडियो वायरल होने के बाद अल्पेश ठाकोर विवाद में घिर गए हैं। गुजरात से यूपी और बिहार के मजदूरों को पलायन के लिए मजबूर किया जा रहा है और आरोप अल्पेश और उनकी ठाकोर सेना पर है।
उन्होंने आरोप लगाया की गुजरात सरकार लोगों की सुरक्षा करने में नाकाम है और अब उन्हें बदनाम किया जा रहा है। अल्पेश ने कहा, ‘अगर इस तरह की राजनीति होगी तो मैं इस्तीफा दे दूंगा।’ बेटे की बीमारी का जिक्र करते हुए मीडिया से बातचीत में अल्पेश भावुक भी हो गए। उन्होंने कहा कि गुजरात में सिर्फ एक जगह हिंसा हुई है जिसकी वह निंदा करते हैं।कांग्रेस के विधायक ने कहा, ‘मेरा बेटा गंभीर हालत में है। मेरे लिए वही मेरी ताकत है। उसे कुछ हुआ तो सब छोड़ दूंगा। मेरे बेटे की तरह दूसरे बेटों की परेशानियां देखता हूं तो दुखी हो जाता हूं। मैं इसलिए तीन दिन से मीडिया में नहीं आ रहा था क्योंकि मेरा बेटा अस्पताल में है।’
अल्पेश ने कहा, ‘गुजरात में सिर्फ एक जगह हिंसा हुई है और मैं इसकी निंदा करता हूं। अगर मैंने किसी को धमकी दी है तो मैं जेल जाऊंगा। गुजरात हर किसी के लिए है। यह जितना आपका है, उतना ही मेरा भी है।’ अल्पेश ने आगे कहा, ‘अगर इसी तरह होता रहेगा तो मैं इस्तीफा दे दूंगा। मुझे नहीं चाहिए ऐसी विधायकी। मैं बिहार चला जाऊंगा और वहीं से लडूंगा।’ अल्पेश ने यह भी कहा कि वह बिहार के व्यापारी हैं इसलिए उनके साथ साजिश हो रही है। उन्हें बदनाम किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि गुजरात में हालात देखकर लग रहा है कि सरकार तो यहां नाकाम है इसलिए ठाकोर समाज को लोगों की रक्षा करनी होगी।
गुजरात के साबरकांठा में 28 सितंबर को 14 महीने की मासूम से रेप में बिहार से आए एक कामगार का नाम सामने आने के बाद से गुजरातियों के निशाने पर यूपी और बिहार के लोग हैं। कई उत्तर भारतीयों पर हमले हुए हैं। दावा है कि यूपी और बिहार से दो जून की रोटी कमाने गुजरात गए 50,000 से ज्यादा लोगों को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा।