आरोपी प्रशांत के समर्थन में आये पुलिस वाले फंड भी इकठ्ठा होने लगा

0
158

लखनऊ = विवेक तिवारी की गोली लगने से मौत प्रशांत चौधरी और उनकी सिपाही पत्नी राखी मलिक सफाई देने उतर आए। प्रशांत ने मीडिया से कहा, ‘हमें पता चला है किके आरोपी बनाये गए कॉन्सेबल प्रशांत चौधरी ने मीडिआ के सामने आरोप लगाया की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि हमारी एफआईआर पंजीकृत न की जाए। क्या हमारी जिंदगी की कोई कीमत नहीं है?’ इस बयान के बाद कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी के समर्थन में उसके साथी पुलिसवाले सामने आ गए है सोशल मीडिया पर अपील की गई कि प्रशांत की पत्नी राखी की मदद के लिए आरक्षी भाई ज्यादा से ज्यादा फंड जुटाएं। और देखते ही देखते एक दिन के भीतरप्रशांत की पत्नी राखी के खाते में 5 लाख 28 हजार रुपये जमा हो चुके हैं।
आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी की पत्नी राखी भी पुलिस में बतौर सिपाही कार्यरत हैं। , यह रकम 30 सितंबर को अलग-अलग माध्यमों से खाते में पहुंची है।
उल्लेखनीय है की प्रशांत के एक साथी मोनू सैनी शाब समेत कई अन्य लोगों के फेसबुक अकाउंट से एक पोस्ट की गई, जिसमें लिखा गया, ‘भाइयों मेरे समस्त आरक्षी भाइयों सभी से निवेदन है कि इस अकाउंट नंबर पर अपने प्रशांत भाई की पत्नी राखी का है। इस दुख की घड़ी में उनका साथ जो बन पड़े दीजिए।’ इस तरह के मेसेज सोशल मीडिया पर सर्कुलेट होने के बाद लोगों ने राखी मलिक के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर किया।