गिरफ्तार युवक ने लगाई फाँसी सवालों के घेरे में वन अमला

0
132

सुरेंद्र सोनी

डिंडौरी मध्य प्रदेश _ डिंडौरी मुख्यालय के वनविभाग के ईको सेंटर में चीतल के शिकार के आरोप में गिरफ्तार युवक ने देर रात फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। आरोपी का नाम पहोप सिंह बताया जा रहा है जो सारसताल निवासी बताया गया है।घटना के बाद से वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हुई इस घटना के संबंध में कोई भी जिम्मेदार वन अधिकारी मीडिया के सामने कुछ भी कहने से बचता नजर आ रहा है।
सूत्रों की माने तो चीतल के शिकार की घटना 12 सितंबर 2018 की थी जहाँ वन अमले ने मुखबिर की सूचना पर जांच शुरू की थी। तब से फरार चल रहा आरोपी पहोप सिंह को वन अमले ने देर शाम गिरफ्तार कर अपनी अभिरक्षा में ईको सेंटर में रखा हुआ था । वही इसकी जिम्मेदारी 3 वन कर्मियों की थी।
युवक के द्वारा लगाई गई फाँसी की जानकारी के बाद कोतवाली पुलिस मौके पर पहुँची है वही वन विभाग के बड़े अधिकारी भी पहुँच चुके है जांच जारी है। घटना के बाद वन विभाग भी सकते में हैं, जिस स्थान पर आरोपित को रखा गया था उसमें विभाग ने बड़ी लापरवाही दिखाई जिस कमरे में भारी मात्रा में सामग्री रखी थी उसी में आरोपित को रखा गया और यदि आरोपित ने स्वयं सरेंडर किया था उसके बाद आत्महत्या करना मामले को संदेहास्पद बनाता है, सकते में आये वन अधिकारी अब जांच की बात कह रहे हैं।