पर्रिकर को सीएम बनाए रखना ‘क्रूर और अमानवीय राजनीति’: शिवसेना

0
63

मुंबई =लंबे समय से बीमार चल रहे मनोहर पर्रिकर को गोवा का मुख्यमंत्री बनाए रखने के फैसले पर बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने हमला किया है। शिवसेना ने बीजेपी के इस कदम को ‘क्रूर और अमानवीय राजनीति’ करार दिया है। शिवसेना ने कहा कि बीजेपी को राज्य में सत्ता जाने का डर है, इसलिए उसने ऐसा कदम उठाया है। शिवसेना ने कहा कि पर्रिकर की गैरमौजूदगी में गोवा में अराजकता की स्थिति है, लेकिन बीजेपी इसलिए कोई बदलाव नहीं कर रही है क्योंकि उसके पास उनका कोई सही विकल्प नहीं है।
उल्लेखनीय है की 62 वर्षीय गोवा के मुख्यमंत्री लंबे समय से बीमार चल रहे हैं और फिलहाल उन्हें इलाज के लिए दिल्ली में एम्स में भर्ती कराया गया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा, ‘पर्रिकर गोवा में नहीं हैं। दिल्ली के अस्पताल में उनका कैंसर का इलाज चल रहा है। सीएम की गैरमौजूदगी में राज्य का प्रशासन पूरी तरह से परेशान है।’
एनडीए में बीजेपी की सहयोगी पार्टी ने कहा कि पर्रिकर को सीएम बनाएर रखना राज्य ही नहीं बल्कि उनके साथ भी अत्याचार है। शिवसेना ने कहा, ‘जबरन उन्हें पद पर बनाए रखना क्रूर और अमानवीय राजनीति है।’ उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने कहा कि पर्रिकर के नाम बीजेपी समय गुजारना चाहती है क्योंकि वह लोकसभा चुनाव से पहले किसी तरह का खतरा नहीं लेना चाहती।
शिवसेना ने कहा, ‘उनकी सेहत के लिए तनाव अच्छी बात नहीं है, लेकिन बीजेपी हाईकमान को यह बात कौन समझाए? उन्हें पर्रिकर से ज्यादा राज्य की सत्ता खोने की चिंता है। उनका लक्ष्य यही है कि बीजेपी की जीत के नक्शे में गोवा बना रहना चाहिए।’