रेप पीड़िता की मां ने मुआवजे का चेक लौटाया कहा इन्साफ चाहिए

0
100

रेवाड़ी =हरियाणा के रेवाड़ी में रेप का शिकार हुई सीबीएसई टॉपर छात्रा की मां ने तीखे शब्दों में इंसाफ की मांग की है। उन्होंने परिवार को दिए गए 2 लाख के मुआवजे का चेक लौटाते हुए कहा है कि उन्हें मुआवजे के पैसे नहीं, बल्कि इंसाफ चाहिए। परिवार को सीजेएम विवेक यादव ने शनिवार को चेक दिया था, जिसे मां ने लौटा दिया है। इस मामले की जांच कर रही एसआईटी ने एक शख्स को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम दीनदयाल है। बताया गया है कि उसने वह जगह किराये पर दी थी जहां पीड़िता का रेप किया गया। वहीं, रेप के बाद आरोपियों ने जिस डॉक्टर से पीड़िता की जांच कराई थी उसे हिरासत में ले लिया गया है।
पीड़िता के मां ने बताया, ‘कल कुछ अधिकारी मुझे मुआवजे का चेक देने आए थे। मैं आज उसे वापस कर रही हूं, क्योंकि हमें न्याय चाहिए, पैसे नहीं। सरकार मेरी बेटी की आबरू की कीमत लगा रही है। मेरी बेटी को बूचड़खाने में लाकर पटक दिया।’ उन्होंने बेटी की तबीयत को लेकर भी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि उनकी बेटी को उचित इलाज तक नहीं मिल रहा और डिप्रेशन में जाने की बात कहकर डॉक्टर बेटी से मिलने भी नहीं दे रहे हैं।
गौरतलब है कि पीड़िता के परिजनों का कहना है कि पुलिस आरोपियों के साथियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। वे घर आकर उन्हें धमकी दे रहे हैं। मामले में हरियाणा के डीजीपी बीएस संधु ने बताया था कि मुख्य आरोपी सेना का जवान है और उसकी पोस्टिंग राजस्थान में है। इस मामले में सेना की दक्षिण पश्चिम कमांड के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल चेरिश मेथसन ने कहा कि रेवाड़ी रेप कांड में अगर कोई सैन्यकर्मी संलिप्त पाया जाता है, तो सेना आरोपी को सजा दिलवाने में मदद करेगी।
19 साल की युवती के साथ गैंगरेप बुधवार को हुआ जब कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। उसी समय बस अड्डे से पंकज और मनीष नाम के दो युवकों ने युवती को लिफ्ट देने के बहाने अगवा कर लिया। चूंकि आरोपी युवती के गांव के ही रहने वाले थे इसलिए वह उन्हें जानती थी। आरोपी युवती को लिफ्ट देकर उसे एक सुनसान स्थान पर ले गए जहां उसे नशीला पेय पदार्थ पिलाकर उससे सामूहिक बलात्कार किया।