लालू यादव डिप्रेशन के शिकार !

0
109

रांची =चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव बीते कई दिनों से रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में अपना इलाज करा रहे हैं। पूर्व में हृदय रोग की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती लालू अब डिप्रेशन और हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी के कारण अब खास चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है। रिम्स के मुताबिक लालू यादव को थोड़े से डिप्रेशन की शिकायत है, लेकिन उनके स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में किसी चिंता की आवश्यकता नहीं है।
बताया जा रहा है कि रिम्स में लालू की देखभाल के लिए अस्पताल प्रशासन किसी मनोचिकित्सक की भी सहायता ले सकता है, लेकिन फिलहाल इसके बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। गौरतलब है कि इससे पहले रविवार को रिम्स निदेशक डॉ. आरके श्रीवास्तव ने लालू के स्वास्थ्य को लेकर जारी किए बुलेटिन के साथ मीडिया से बात करते हुए कहा था कि आरजेडी सुप्रीमो के शरीर में विडामिन डी की कमी है। बुलेटिन के मुताबिक उनके पैर में घाव (बलतोड़) भी हुआ है, जिससे सूजन की स्थिति है और चलने-फिरने में उन्हें दिक्कत हो रही है। इसी दौरान चिकित्सकों ने लालू के डिप्रेशन में होने की बात को भी पुष्ट किया है।
लालू यादव को डिप्रेशन पर स्थिति स्पष्ट करते हुए श्रीवास्तव ने कहा, ‘कई बार बीमारी या फिर वातावरण में बदलाव के कारण भी डिप्रेशन की स्थिति आती है। यह कोई बड़ा मसला नहीं है।’ कहा जा रहा है कि सोमवार को लालू के स्वास्थ्य की जांच के लिए अस्पताल प्रशासन किसी मनोचिकित्सक से उनकी जांच करा सकता है, हालांकि अब तक अस्पताल ने इसपर कोई बयान नहीं दिया है।
लालू प्रसाद यादव ने पिछले दिनों अस्पताल प्रशासन से शिकायत की थी कि कुत्तों के भौंकने की आवाज और मच्छर के कारण उन्हें रात में नींद नहीं आ रही है। लालू की शिकायत पर निदेशक ने कहा था कि उन्होंने उनकी गुजारिश जेल प्रशासन को भेज दी है। साथ ही नगर निगम को भी इलाके से कुत्तों को हटाने के बारे में भी लिखा गया है। लालू यादव ने रिम्स के नए बने पेइंग वॉर्ड में खुद को शिफ्ट करने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि अस्पताल में मच्छर भी हैं, जिससे उन्हें डेंगू का भय बना रहता है।