बिहार के दो मंत्रियों को शरद यादव ने नोटिस दिया

0
103

पटना – बिहार सरकार के मंत्रियों के शहीदों का अपमान करने वाले बयानों पर जेडीयू ने कड़ा रुख अपनाया है। पार्टी ने अपने दोनों नेताओं भीम सिंह और नरेंद्र सिंह को ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी कर दिया है। दोनों नेताओं के माफी मांगने के तरीके से पार्टी नाराज है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दोनों नेताओं द्वारा दिए गए बयान पर एक बार फिर शहीद सैनिकों के परिजनों से माफी मांगी है।
जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने कहा, ‘बगैर सीएम से पूछे मंत्रियों को कोई बयान नहीं देना चाहिए। टीवी पर मैंने दोनों नेताओं का बयान देखा है। हमने दोनों नेताओं से सात दिनों के भीतर जवाब देने को कहा है। नेताओं द्वारा पार्टी की छवि को अकारण चोट पहुंचाई गई है। यह अनुशासन के खिलाफ है। शहीदों का अपमान करने का किसी को हक नहीं। शहीदों पर बोलते समय नेताओं को अनुशासन बरतना चाहिए।’
उल्लेखनीय है कि शहीदों के शव पटना एयरपोर्ट पर लाए जाने के बाद जेडीयू नेता भीम सिंह से जब एक पत्रकार ने वहां पर किसी भी मंत्री के न पहुंचने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा, ‘जवान तो होते ही हैं शहीद होने के लिए। लोग सेना और पुलिस में नौकरी करने क्यों जाते हैं? शहादत के लिए ही लोग सेना में शामिल होते हैं। उनकी यही भावना होती है। आप थोड़े ही शहीद होइएगा?’ बाद में मामले को तूल पकड़ता देख भीम सिंह ने माफी मांग ली थी।
इतना ही नहीं, बिहार के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह ने भी शनिवार को शहीदों को लेकर अजीबोगरीब दलीलें दीं। नरेंद्र सिंह ने सैनिकों पर हुए हमले में पाकिस्तान को क्लीन चिट दी। इसके बाद उन्होंने शहादत पर शर्मनाक बयान देने वाले मंत्री भीम सिंह के बयान को भी सही ठहराया। हद तो तब हो गई, जब उन्होंने शहीद विजय राय के परिवार के अनशन पर बैठने पर ही सवाल खड़ा कर दिया।