एक करोड़ का लाटरी नंबर फर्जी निकला सब्जी वाला गिरफ्तार

0
190

मुंबई =नालासोपारा में एक सब्जीवाले को 1.11 करोड़ रुपये की लॉटरी का जैकपॉट लगने के दो महीने बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। दुकानदार ने कल्याण के लॉटरी स्टॉल के खिलाफ उसे इनाम राशि न दिए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी। जांच में पुलिस को पता चला कि सब्जीवाले ने फर्जी टिकट दिखाकर लॉटरी पर दावा ठोका था। पुलिस ने उसके साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।
अखबार मुंबई मिरर की खबर के मुताबिक सुहास कदम और उसके रिश्तेदारों को महात्मा फुले पुलिस ने कल्याण से गिरफ्तार किया था। पुलिस को पता चला था कि उसने अपने टिकट पर लॉटरी जीतने वाला अंक प्रिंटिंग प्रेस में जमा करवा लिया था। पुलिस के मुताबिक कदम सब्जी बेचने के अलावा हेल्पर का काम करता था। उसने दावा किया था कि 16 मार्च को प्रिंस लॉटरी सेंटर से टिकट खरीदा था।
उसने दावा किया कि 100-100 रुपये के पांच टिकट खरीदे थे। कदम ने कहा कि लॉटरी के नतीजे आने के बाद उसने राज्य लॉटरी विभाग में राशि पर दावा किया लेकिन उन्होंने उससे कहा कि विजेता को पहले ही इनाम दिया जा चुका है। विभाग ने उससे शिकायत दर्ज कराने को कहा।
कदम ने पुलिस में फर्जी टिकट बेचे जाने की शिकायत दर्ज कराई। जब पुलिस ने मामले की जांच की तो पता चला कि कदम के टिकट पर नंबर तो सही थे लेकिन बार-कोड अलग थे। इससे पुलिस को शक हुआ। कॉल रेकॉर्ड से पता चला कि वह मार्च में एक बार भी कल्याण गया ही नहीं। पूछताछ में उसने बताया कि उसके रिश्तेदार मंगेश और अजीत, और दोस्त अजीत नाइक ने टिकट बदलवाकर विजयी टिकट का नंबर छपवा दिया।