लालू की मुश्किलें कम नहीं हो रहीं

0
73

पटना =एक ओर लालू चारा घोटाले की सजा के बीच एम्स में भर्ती हैं दूसरी परिवार की मुश्किलें भी कम होती नहीं दिख रहीं। शुक्रवार को इनकम टैक्स विभाग ने आरजेडी मुखिया लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए बेनामी प्रॉपर्टी ट्रांजैक्शन ऐक्ट के तहत 7105 वर्ग फीट जमीन अटैच कर ली है।प्राप्त सूचना के हवाले से पटना के शेखपुरा में स्थित 7105 फीट जमीन एक फैक्ट्री के तहत रजिस्टर्ड है जो लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से जुड़ी हुई है। हाल ही में तेज प्रताप की सगाई हुई है और उनकी शादी की तैयारियां भी जोरों पर हैं। ऐसे में इनकम टैक्स द्वारा संपत्ति अटैच किए जाने से उन्हें गहरा झटका लगा है। लालू के परिवार के खिलाफ इनकम टैक्स का शिकंजा पिछले साल से कसता आ रहा है। पिछले साल जून में आईटी विभाग ने लालू के बेटे-बेटी सहित कई रिश्तेदारों की बेनामी संपत्तियों को पटना से दिल्ली तक अटैच किया था।
इसको लेकर लालू और उनके परिवार से लगातार पूछताछ होती रही है। बेनामी संपत्ति के अलावा होटेल टेंडर घोटाले के तहत भी लालू और उनके बेटे तेजस्वी यादव का नाम सामने आ चुका है। इस सिलसिले में पिछले दिनों लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी के पटना स्थित घर पर छापेमारी हुई थी। सीबीआई ने तेजस्वी यादव से करीब 4 घंटे पूछताछ भी की थी।
इससे पहले इसी मामले में सीबीआई ने लालू से भी पिछले साल अक्टूबर महीने में पूछताछ की थी। तेजस्वी यादव पर पिछले साल जुलाई महीने में इस मामले को लेकर केस दर्ज हुआ था। मामला IRCTC के होटलों की नीलामी में हुए कथित घोटाले से जुड़ा हुआ है। इस मामले में लालू और उनके परिवार के कई ठिकानों पर पहले भी छापेमारी की जा चुकी है।
लालू पर आरोप है कि उन्होंने संवैधानिक पद पर रहते हुए कुछ खास लोगों को फायदा पहुंचाया था। आरोप के मुताबिक रेल मंत्री के पद पर रहते हुए लालू ने बीएनआर रांची और बीएनआर पुरी की देखरेख का जिम्मा एक निजी होटेल को सौंपा था। लालू ने बदले में एक बेनामी कंपनी के जरिए तीन एकड़ की महंगी जमीन की दलाली ली थी। इस होटेल का नाम सुजाता होटल है, जिसका मालिकाना हक विनय और विजय कोचर के पास है।