नरेश अग्रवाल महिला नेत्रियो के बयानों से चौतरफा घिरे

0
66

लखनऊ = राज्य सभा सदस्य और मशहूर अभिनेत्री जया बच्चन पर बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल के विवादित बयान पर महिला नेताओं ने हमला बोल दिया है। पार्टी से लाइन हटकर इन नेताओं ने नरेश के बयान की निंदा की है। बीजेपी, कांग्रेस समेत लगभग तमाम दलों की महिला नेताओं ने नरेश के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
दरअसल सपा से राजयसभा से टिकट कटने के बाद सोमवार को बीजेपी में शामिल किए गए नरेश ने कहा था, ‘फिल्मों में नाचने और काम करने वालों से मेरी हैसियत कर दी गई। उनके नाम पर हमारा टिकट काटा गया। मैंने इसको भी बहुत उचित नहीं समझा। मैं बीजेपी में कोई शर्त पर नहीं आया। कोई राज्यसभा टिकट की मांग नहीं की है।
नरेश पर सबसे पहला हमला विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बोला था। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, ‘नरेश अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। उनका स्वागत है, लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है।’ इसके बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी, पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, बीजेपी नेता रूपा गांगुली ने एक सुर में नरेश के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।
नरेश के बयान को लेकर ट्विटर पर भी उस वक्त मामला गरमा गया, जब केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने एक ट्वीट को लेकर सख्त ऐतराज जताया।
एक ट्विटर यूजर ने सलाह दी थी कि बीजेपी को अब संजय निरूपम के बयान को मुद्दा बनाना चाहिए, जो उन्होंने 2012 में स्मृति इरानी के खिलाफ दिया था। इस पर स्मृति ने अलग राय जाहिर करते हुए ट्वीट किया, ‘पिछले पांच साल से मेरा मामला अदालत में विचाराधीन है। लेकिन कृपया मेरे संघर्ष को किसी दूसरी महिला को अपमानित करने के लिए ढाल न बनाएं। असल में यह हमारे लिए एक चेतावनी है कि जब एक महिला के सम्मान को चुनौती दी जाती है, तो हमें अपनी राजनीति को परे रखते हुए एकजुट होकर इसकी आलोचना करनी चाहिए।’
दरअसल, 2012 में एक न्यूज चैनल पर बहस के दौरान कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने स्मृति पर एक विवादित टिप्पणी की थी। निरूपम ने कहा, ‘आप सोचती हैं कि आप एक राजनीतिक विश्लेषक हैं। कल तक आप टेलिविजन पर नाच रही थीं और आज आप एक राजनेता बन गई हैं।’ निरूपम के इस बयान के बाद इरानी ने उनके खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराया था।बीजेपी की राज्यसभा सदस्य और अभिनेत्री रूपा गांगुली ने भी नरेश के बयान की निंदा करते हुए कहा, ‘नरेश अग्रवाल का बहुत भद्दा बयान। मैं इसे अस्वीकार्य करती हूं। यह बीजेपी लीडरशिप नहीं है। फिल्म इंडस्ट्री और संसद सदस्य के रूप में जया दी के योगदान पर मुझे गर्व है। जया दी हम आपका आदर करते हैं।’

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा, ‘अमिताभ बच्चन से शादी से पहले जयाजी बहुत कुछ हासिल कर चुकी थीं। वह जया भादुड़ी के रूप में मशहूर थीं। नरेश अग्रवाल सारी पार्टी घूमते हैं। फायदा देखकर दूसरी पार्टी में कूद पड़ते हैं, यह मर्द की पहचान है। सवाल यह नहीं है कि वह क्या सोचते हैं, बल्कि सवाल यह है कि बीजेपी क्या कर रही है?’
केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी नरेश के बयान की सख्त आलोचना करते हुए कहा, ‘यह दुखद है। अगर चुने हुए जनप्रतिनिधि इस तरह की बात करेंगे, तो उनके और रोडसाइड रोमियो में क्या अंतर रह जाएगा? यहां तक कि पुरुष भी फिल्मों में डांस करते और गाते हैं, फिर ऐसी बातें महिलाओं के लिए ही क्यों की जाती हैं?’
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने इस बयान पर ट्वीट किया, ‘श्रीमती जया बच्चनजी पर की गई अभद्र टिप्पणी के लिए हम बीजेपी के नरेश अग्रवाल के बयान की कड़ी निंदा करते है। यह फिल्म जगत के साथ ही भारत की हर महिला का भी अपमान है। बीजेपी अगर सच में नारी का सम्मान करती है, तो तत्काल उनके खिलाफ कदम उठाए। महिला आयोग को भी कार्रवाई करनी चाहिए।’