माल्या ने बताया कि वो कैसे कर्ज चुका सकता है

0
114

बेंगलुरु =विजय माल्या की होल्डिंग कंपनी यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स ने गुरुवार को कर्नाटक हाई कोर्ट से कहा कि उसके एसेट और शेयर्स की मार्केट वैल्यू 12,400 करोड़ रुपये से ज्यादा है और वह किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाया 6,000 करोड़ रुपये से अधिक का लोन ब्याज के साथ आसानी से चुका सकता है। यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड ही बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस की कॉर्पोरेट गारंटर है।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के मुताबिक कंपनी ने कोर्ट में कहा कि ईडी के द्वारा उसकी संपत्तियां अटैच करने की वजह से वह मजबूर हो गई है और कोर्ट के द्वारा एडीशनल डिपॉजिट या किसी प्रपोजल के आदेश का पालन करने में सक्षम नहीं है। चीफ जस्टिस दिनेश माहेश्वरी की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने मामले की सुनवाई 2 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दी है। सुनवाई के दौरान सीनियर वकील साजन पोवाया ने कोर्ट को बताया कि जनवरी में कंपनी के एसेट्स की कुल वैल्यू 13,400 करोड़ रुपये आंकी गई है, लेकिन बाजार के उतार-चढ़ाव को देखते हुए अब इसकी वैल्यू 12,400 करोड़ रुपये मानी जा रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि क्रेडिटर्स के आउटस्टैंडिंग ड्यूज 10,000 करोड़ रुपये के आंकड़े से आगे नहीं जाएगा।
एक दूसरे मामले में कंपनी की तरफ से पैरवी कर रहे सीनियर वकील उदय होल्ला ने कहा कि ईडी ने सबकुछ अटैच कर दिया है। उन्होंने आगे कहा, ‘कर्नाटक हाई कोर्ट के पास जमा 1,240 करोड़ रुपये पर कोर्ट नें 137 करोड़ रुपये का ब्याज कमाया है। ब्याज को जोड़कर कुल राशि 1,417 करोड़ रुपये हो जाती है।’ इसपर कोर्ट ने कहा कि शेयरों की कीमत पर भरोसा नहीं किया जा सकता है और इसलिए शेयरों के भरोसे आगे नहीं बढ़ा जा सकता है। कोर्ट का कहना था कि कंपनी को आगे बढ़ने के लिए संतुष्ट करने वाले किसी ठोस प्रस्ताव के साथ आना होगा।