ट्रम्प की लताड़ के बाद पाक के साथ आया चीन

0
134


पेइचिंग =अमेरिका की लताड़ के बाद चीन ने पाकिस्तान का यह कहकर बचाव किया कि वैश्विक समुदाय को आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए उसके सहयोगी पाकिस्तान के ‘सर्वोत्तम योगदान’ को स्वीकार करना चाहिए।
गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने आतंकियों को पालने को लेकर उसे जमकर खरी-खोटी सुनाई। और ट्रंप प्रशासन ने पाक को बड़ा झटका देते हुए उसे दी जाने वाली 1624 करोड़ की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी।
इसके दूसरे ही दिन चीन ने पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी रेकॉर्ड की तारीफ की। ट्चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा, ‘पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ जंग में अथक प्रयास और बलिदान दिए हैं। वैश्विक चुनौती बन चुके आतंकवाद से निपटने के लिए पाकिस्तान ने सर्वोत्तम योगदान किया है।’
चीन के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि चीन को यह देखकर खुशी है कि आतंकवाद के खिलाफ अभियान समेत कई अंतरराष्ट्रीय सहयोग में पाक बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहा है, जिससे क्षेत्रीय शांति और स्थिरता कायम की जा सके। गेंग ने आगे कहा, ‘चीन और पाकिस्तान सदाबहार सहयोगी रहे हैं। हम हमारे बहुपक्षीय सहयोग को और बढ़ाने के लिए तैयार हैं जिससे दोनों पक्षों को लाभ हो।’
ट्रम्प ने कहा,था ‘अमेरिका ने बीते 15 सालों में पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर की सहायता दी है, लेकिन बदले में हमें झूठ और छल के अलावा कुछ भी नहीं मिला। पाकिस्तान ने हमारे नेताओं को मूर्ख समझा। उन्होंने आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह दी और हम उन्हें अफगानिस्तान में ढूंढते रहे।’
दरअसल पाक में चीन ने भारी-भरकम निवेश किया है। वह 50 अरब डॉलर की लागत से चीन-पाक आर्थिक गलियारा बना रहा है, जिस पर भारत ने आपत्तियां जताई हैं