करनी सेना ने दीपिका की नाक काटने की धमकी दी

0
62

लखनऊ =फिल्म \’पद्मावती\’ का विरोध कर रही करण सेना ने फिल्म की नायिका दीपिका पादुकोण पर हमले की धमकी दी है। करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र नाथ ने कहा, ‘हमें उकसाना जारी रखा गया तो हम दीपिका की नाक काट देंगे। हमने 1 दिसंबर को फिल्म के रिलीज के दिन भारत बंद का भी ऐलान किया है।’ राजस्थान में भी करणी सेना के एक और नेता महिपाल मकराना ने भी दीपिका को यह धमकी दी। बता दें कि दीपिका ने फिल्म के विरोध की आलोचना करते हुए कहा था कि कोई भी पद्मावती को रिलीज होने से रोक नहीं सकता है। यही नहीं उन्होंने कहा था कि लगता है हम एक देश के तौर पर पीछे जा रहे हैं।
करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र नाथ ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि फिल्म पद्मावती में हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि भंसाली को फिल्म के लिए दुबई से फंड मिला है। पाकिस्तान में बैठे अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने दुबई के जरिए फिल्म की फंडिंग की है। उन्होंने कहा कि करणी सेना फिल्म को किसी भी कीमत पर रिलीज नहीं होने देगी। पद्मावती फिल्म में अभिनेता रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी, रानी पद्मिनी के किरदार में दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर रानी पद्मिनी के पति राजा रत्न सिंह के किरदार में हैं।
करणी सेना के अध्यक्ष ने 1 दिसंबर को फिल्म के रिलीज के दिन भारत बंद की बात भी कही। उन्होंने कहा कि 1 दिसंबर को करणी सेना भारत बंद करेगी। लोगों को अहिंसा के साथ में समझाया जाएगा। खून से लिखी चिट्ठी हर डीएम और सिनेमाघरों को देने की अपील की है। पीएम मोदी से फिल्म को रोकने की अपील की। उन्होंने कहा कि हमें पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर पूरा विश्वास है कि वह इस फिल्म को रोक देंगे।
इससे पहले फिल्म की लीड ऐक्ट्रेस और पद्मावती का किरदार निभाने वाली दीपिका पादुकोण ने कहा था कि फिल्म को रिलीज होने से कोई रोक नहीं सकता। यह सिर्फ पद्मावती की नहीं बल्कि बड़ी लड़ाई। दीपिका के इस बयान पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने उन्हें अनपढ़ करार देते हुए उनकी नागरिकता पर सवाल उठाया था।
इस बीच पद्मावती की रिलीज को टालने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखने की बाबत योगी आदित्यनाथ ने कहा कि फोर्स निकाय चुनाव में व्यस्त है। यदि कोई फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ के जरिए समाज में जहर घोलने का काम कर रहा हो तो इसे सही नहीं कहा जा सकता। उन्होंने कहा कि किसी को अपने व्यावसायिक हितों के लिए समाज में अव्यवस्था पैदा करने का हक नहीं है। योगी ने कहा कि मैं फिल्म पर रोक नहीं लगा सकता, लेकिन कानून व्यवस्था के मसले को देखना हमारा काम है।