आरएसएस के स्वदेशी जागरण मंच से मोदी सरकार की बुराई

0
72

नई दिल्ली =राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े संगठन स्वदेशी जागरण मंच से एक किसान नेता ने बीजेपी की मोदी सरकार को खूब खरी-खोटी सुनाई । किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा कि यह सरकार किसान विरोधी है।
किसान नेता रामपाल जाट ने कहा, ‘मंदिर-मस्जिद के मुद्दे देश नहीं चलाएंगे, यह व्यक्ति के मुद्दे हैं देश के नहीं। इन्हें मुद्दा बनाना देश के साथ खिलवाड़ है और आर्थिक मुद्दों पर बात होनी चाहिए।’ जब बीजेपी किसान मोर्चा के नेता न्यूतम समर्थन मूल्य बढ़ाने को लेकर सरकार की तारीफ कर रहे थे तो जाट ने उन्हें बीच में टोकते हुए कहा, ‘यह सरकार ऐसे काम कहती है जिसमें उसे कुछ नहीं करना होता। पीएम ने कहा कि किसानों की आय 3 गुना बढ़ाएंगे, पर उसमें उन्हें कुछ नहीं करना है। एनएसएसओ के मुताबिक 2003 में प्रति माह प्रति किसान परिवार आय 2,115 रुपये थी और 2013 में यह बढ़कर 6,426 रुपये हो गई। तो इस तरह आय तो अपने आप ही 3 गुना हो गई।’ किसान नेता रामपाल जाट ने कहा कि यह दरअसल किसानों की आय नहीं बढ़ी बल्कि महंगाई बढ़ी है। जाट ने कहा कि किसान किसी उत्पाद पर जितना खर्च करते है उसे उतना पैसा तक वापस नहीं मिल पा रहा है।
दरअसल स्वदेशी जागरण मंच ‘राष्ट्रीय स्वदेशी सुरक्षा अभियान’ चला रहा है। जिसके तहत 29 अक्टूबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली की योजना है। इसमें रामपाल जाट के संगठन किसान पंचायत के साथ ही भारतीय उद्योग व्यापार मंडल, भारतीय किसान यूनियन (टिकैत), भारतीय कृषक समाज सहित व्यापारी और इंडस्ट्री के लोग उनके साथ एक मंच पर आए हैं। 29 अक्टूबर की रैली की जानकारी देते हुए भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के राष्ट्रीय महामंत्री युद्धवीर सिंह ने कहा कि देश में सबसे कमजोर कड़ी किसान हैं। किसान को उसके उत्पाद का उचित मूल्य नहीं मिल रहा है और बाहर से सामान इंपोर्ट कर किसान को मारने का काम हो रहा है। पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स ऐंड इंडस्ट्री के पूर्व अध्यक्ष रवि विग ने कहा कि सबसे ज्यादा नुकसान इंडस्ट्री को हो रहा है।