जल्दबाजी में लागू जीएसटी से लाखो की नौकरियां चलीं गयी

0
65

मंडी =जीएसटी को लेकर कारोबारियों को दी गई राहत के बारे में गुजरात में पीएम नरेंद्र मोदी के जिक्र के कुछ देर बाद ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उन पर निशाना साधा। हिमाचल प्रदेश के मंडी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि केंद्र द्वारा ‘जल्दबाजी’ में जीएसटी लागू करने की वजह से लोगों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी। राहुल ने मजकिया अंदाज में पीएम मोदी और रिपोर्टर के बीच हुई कथित बातचीत के एक किस्से के जरिए भी उन पर हमला किया।
राहुल ने कहा, ‘गुजरात में जीएसटी की वजह से 30 लाख युवक-युवतियों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी।’ राहुल ने आरोप लगाया कि एनडीए की आर्थिक नीतियों की वजह से बेरोजगारी बढ़ गई। राहुल के मुताबिक, सिर्फ गुजरात में 50 लाख बेरोजगार युवा हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने बताया कि उनकी पार्टी ने जीएसटी की अधिकतम सीमा 18 पर्सेंट रखने का प्रस्ताव रखा था, लेकिन मोदी सरकार ने इसे 28 पर्सेंट तय कर दिया। राहुल के मुताबिक, छोटे और मझोले उद्योग टैक्स का इतना बड़ा बोझ उठाने में असमर्थ हैं।
राहुल ने एक काल्पनिक किस्से का जिक्र किया, जिसके मुताबिक एक रिपोर्टर ने पीएम मोदी से उनकी पहाड़ों की यात्राओं को लेकर सवाल पूछा था। राहुल ने बताया, ‘एकबार पीएम मोदी से एक रिपोर्टर ने उनकी पहाड़ों पर यात्रा को लेकर कुछ सवाल पूछे थे। रिपोर्टर के सवाल पर मोदी ने कहा था कि मुझे पहाड़ बहुत अच्छे लगते हैं। रिपोर्टर ने पूछा, पहाड़ों पर आप कहां-कहां गए हैं? पीएम ने जवाब दिया कि मैं कई पहाड़ों की यात्रा कर चुका हूं। इसके बाद रिपोर्टर ने फिर मोदीजी से पूछा कि कितनी ऊंचाई तक आप पहाड़ों पर गए हैं? पीएम ने कहा कि मैं 25,000 फीट तक की ऊंचाई पर पहाड़ घूम आया हूं।’
इतना कहते ही जनसभा में मौजूद बहुत सारे लोग हंस पड़े। राहुल ने कहा कि भारत में एकमात्र पहाड़ कंचनजंघा है, जिसकी ऊंचाई 25000 फीट के करीब है। पीएम के दावे पर सवाल उठाते हुए राहुल ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री केवल चप्पल पहनकर ही कंचनजंघा घूम आए हैं। सच्चाई तो यह है कि पीएम चप्पल पहनकर तो नहीं लेकिन जूते पहनकर हिमाचल के कई इलाके घूम आए हैं।
राहुल ने कहा कि पीए मोदी को झूठ-सच में फर्क नहीं पता। रोजगार देने को लेकर पीएम मोदी और उनके मंत्री आम जनता से झूठ बोल रहे हैं। राहुल के मुताबिक, मोदी के मंत्री पीयूष गोयल कहते हैं कि कम नौकरी अच्छी बात है। इस तरह का बयान बेहद शर्मनाक हैं। रोजगार के मसले पर मोदी सरकार को घेरते हुए राहुल ने कहा, ‘चीन में रोजाना 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलता है। वहीं भारत में हर दिन केवल 450 युवाओं को ही रोजगार मिलता है। यहां भारत और चीन के बीच अंतर साफ दिखता है। देश के युवाओं को कोई भविष्य नहीं दिख रहै। सच्चाई तो यह है कि बेरोजगारी देश की सबसे बड़ी समस्या है। इससे निजात पाना बेहद जरूरी है।’
उन्होंने कहा, ‘आज देश के सामने अगर कोई कठिनाई है तो वह रोजगार की है। सरकार इस मुद्दे पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रही है। किसान आत्महत्या करने को मजबूर है। खेती घाटे का सौदा बन गया है। आखिर ऐसे में आम लोग क्या करे? मोदी सरकार इस मोर्चे पर पूरी तरह फेल हो चुकी है।’