बारिश के लिए पुरुष महिलाये बने और महिलाये पुरुष

0
37

भरतपुर =बारिश न होने से आम आदमी के साथ किसान क बेहद परेशानी होती है इसलिए पानी बरसने के लिए कंही यज्ञ किये जाते है तो कंही टोने टुटके का सहारा लिया जाता है कोई किसी देवता को पूजता है तो कहीं कोई मन्नत मांगता है। लेकिन छत्तीसगढ़ के कोरिया में लोगों ने बादलों को मनाने के लिए अनोखा ही तरीका निकाला।
कोरिया के भरतपुर में लोगों ने विपरीत लिंग के लोगों की तरह वेश धरा। वहां महिलाएं पुरुषों की तरह और पुरुष महिलाओं की तरह कपड़े पहनकर निकले हैं।स्थानीय लोगों ने बारिश के लिए प्रार्थना करते हुए यह अजीबो-गरीब तरीका अपनाया है। इसे अंधविश्वास कहें या आस्था,
ऐसे अनोखे तरीके को मानना वाले अकेले छत्तीसगढ़ के लोग नहीं हैं। कर्नाटक में महादेव स्वामी नाम के एक बाबा हैं जिनके बारे में लोगों को विश्वास है कि वह जहां भी जाकर ध्यान में लीन होते हैं वहां बारिश होने लगती है। वह एक गांव से दूसरे गांव घूमते हैं। जहां भी पहुंचते हैं वहां लोग उनके लिए सारे इंतजाम करते हैं लेकिन बाबा एक बार पेड़ पर ध्यान लगाने के लिए चढ़ते हैं तो बारिश होने के बाद ही नीचे उतरते हैं।