गौरी लंकेश के हत्यारे सीसीटीवी में कैद

0
65

बेंगलुरु =बेंगलुरु में मंगलवार को वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद पुलिस को घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज से हत्यारों के बारे में अहम सुराग हाथ लगे हैं। इस बीच कर्नाटक सरकार ने जांच के लिए एसआईटी का भी गठन किया है। जांच कर रहे पुलिस को संदेह है कि इस वारदात को अंजाम देने के लिए किराए के शूटर बुलाए गए थे। सूत्रों का कहना है कि जिस तरह हमलावरों ने गौरी लंकेश को फॉलो किया था उसे देख साफ है कि हत्या से पहले रेकी भी की गई थी। कन्नड़ पत्रकार और सोशल ऐक्टिविस्ट गौरी लंकेश को उनके राज राजेश्वरी नगर स्थित आवास पर गोली मारी गई थी।
बताया जाता है की गौरी लंकेश को निशाना बनाकर 7 गोलियां मारी गई थीं। उनके शरीर पर 3 गोलियों के चोट के निशान मिले हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने घटनास्थल की सीसीटीवी फुटेज भी बरामद कर ली है। 55 साल की गौरी लंकेश को तब निशाना बनाया गया था, जब वह अपनी कार से उतरकर घर का दरवाजा खोल रही थीं। पड़ोसियों ने गौरी लंकेश को घर के पोर्च में गिरा पाया था। पुलिस अब हत्या की तफ्तीश में जुटी हुई है। शहर के पुलिस कमिश्नर टी सुनील कुमार का कहना है कि हमलावरों को पकड़ने के लिए पुलिस की 3 विशेष टीमें बनाई गई हैं।
कर्नाटक के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी का कहना है कि वहां तीन सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। उनके फुटेज की जांच की जा रही है। पुलिस की 3 टीमें वारदात की छानबीन कर रही हैं।
गौरी लोकप्रिय कन्नड़ टैब्लॉइड ‘लंकेश पत्रिका’ की संपादक थीं। नवंबर, 2016 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के खिलाफ एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिस कारण उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया गया। इस मामले में उन्हें छह माह जेल की सजा हुई थी।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने वरिष्ठ कन्नड पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की निंदा की और कहा कि सच को कभी दबाया नहीं जा सकता। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने भी इस हत्याकांड की निंदा करते हुए तेज जांच की उम्मीद जताई है। राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी महिला पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया।
राहुल ने ट्वीट किया, ‘ ‘सच को कभी दबाया नहीं जा सकता। गौरी लंकेश हमारे दिलों में बसती हैं। मेरी संवेदनांए और प्यार उनके परिवार के साथ। दोषियों को सजा मिलनी चाहिए।’ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘गौरी एक तर्कशील थीं जिन्हें गोलियों से शांत करा दिया गया। उनकी हत्या उन लोगों को चुप कराने का प्रयास है जो विपरीत विचार रखते हैं। दुर्भाग्यपूर्ण है।’
केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘उनकी हत्या की खबर ‘स्तब्ध’ कर देने वाली है।’