हीरो से विलेन बने डाक्टर कफील ने अपना दर्द वीडिओ के माध्यम से बयां किया

0
129

गोरखपुर =गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में तीस बच्चो की आक्सीजन की कमी से हुई मौत के बाद अचानक हीरो और उसके बाद विलेन बने डाक्टर कफील ने फेसबुक पर विडियो मेसेज जारी कर अपनी सफाई दी। उन्होंने कहा कि वह अंतिम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं और उन्हें अल्लाह पर पूरा भरोसा है। डॉक्टर कफील ने अपनी सफाई में कहा कि मेरा खुदा और दिल ही जानता है कि मैंने कुछ गलत नहीं किया।
डॉक्टर कफील ने विडियो मेसेज में कहा कि दोपहर में ही डीएम साहब को पता चल गया था। उन्होंने कहा, ‘मैंने सीएमओ को फोन किया। सबको बताया कि आक्सीजन सिलेंडर खत्म हो गए हैं, बच्चे मर जाएंगे। मैंने किस-किससे भीख नहीं मांगी। डीजीएमओ की रिपोर्ट में कहा गया कि 3 सिलिंडर लेकर कफील आया। सर! मैं 3 नहीं 250 सिलिंडर लेकर आया था।’
कफील ने किसी से सहयोग नहीं मिलने का जिक्र करते हुए कहा कि मैं सुबह से लेकर रात तक दौड़ता रहा। उन्होंने कहा, ‘एडी हेल्थ को फोन किया था। सबसे भीख मांगी थी कि सर 50 सिलिंडर दे दो। कोई साथ नहीं आया। सिर्फ सीमा सुरक्षा बल ने तुरंत दे दिया एक ट्रक। आप बात करते हो 3 सिलिंडर की।’
डॉक्टर कफील ने बेहद भावुक अंदाज में कहा, ‘कितनी बातें लोग कह रहे हैं। पूरे घर को छिपना पड़ रहा है। अम्मी जान हज़ के लिए गई हैं और वहां से परेशान है। मुझे सिर्फ एक चीज हिम्मत पहुंचाती है कि चाहे वो 10 बच्चे ही हों जिनकी जान बच गई। बाकी तो ऊपर वाला देखता है। मेरे दिल को एक बात का संतोष है कि जिन बच्चों की जान मैंने बचाई उनके मां-बाप की दुआ मुझे शायद लगेगी। अल्लाहहाफिज़!’ डॉक्टर कफील ने मुख्य सचिव की रिपोर्ट से पहले यह विडियो 19 अगस्त को रेकॉर्ड किया था।