नीतीश सरकार के 75 फीसदी मंत्री दागी फिर भी वे क्यों चुप है

0
46

पटना =बिहार में महागठबंधन से अलग जाकर बीजेपी के साथ सरकार बनाने के बाद नीतीश कुमार पर आरजेडी की तरफ से लगातार वार हो रहा है। बुधवार को बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने एक बार फिर नीतीश पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कई सवाल पूछे। तेजस्वी यादव ने कहा, ‘नीतीश कुमार के नए मंत्रिमंडल में 75 प्रतिशत मंत्री दागी हैं और उनके मंत्रियों के नाम भी पानामा पेपर्स में शामिल हैं। इस मामले में नीतीश क्यों चुप हैं? हम इसकी जांच की मांग करेंगे।’ एक दिन पहले ही लालू प्रसाद यादव ने उन्हें ‘पलटूराम’ बताया था।
तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार की अंतरात्मा नहीं बल्कि कुर्सी आत्मा बोलती है। उन्होंने कहा, ‘यह जो आपने भूल की है, यह आलोचना हमेशा सुननी पड़ेगी। सामाजिक न्याय को मानने वाले लोगों को आप क्या जवाब देंगे? ये लोग आपसे पूछेंगे और आपको जिंदगी भर इन सवालों का जवाब देना पड़ेगा। सब लोग उम्मीद कर रहे थे कि मुख्यमंत्री जी कुछ बोलेंगे, लेकिन इन्होंने मेरे बोलने के वक्त लाइव टेलिकास्ट ही काट दिया गया। हमने तो कहा था कि हम जनता के बीच जाएंगे लेकिन जब मैं हाउस में बोल रहा था तो हमारी बात क्यों काटी गई। मुख्यमंत्री जी को इसका जवाब देना पड़ेगा।’
तेजस्वी यादव ने कहा, ‘मुख्यमंत्री जी बोले कि लालू जी और आरजेडी के लोग जाति की राजनीति करते हैं और वह मास की राजनीति करते हैं। मंडल कमिशन की जब बात चल रही थी तो यही नीतीश कुमार जी ने मास को चीट करके समता पार्टी गठित की और कमंडल के साथ भाग गए। तब मास लालू जी के साथ था। जब एक बार फिर मायावती, अखिलेश जी एनडीए सरकार बनने के बाद एकता की बात की तो फिर से इन्होंने धोखा देने का काम किया है। गोधरा में जब दंगा हुआ था, तब यही मंत्री थे, तब इन्होंने सेक्युलरिजम क्यों नहीं दिखाया? आज वह ‘हे राम’ से ‘जय श्री राम’ में पलटी मार गए हैं। चंपारन का शताब्दी वर्ष मना रहे हैं और आज उन्हीं के हत्यारों के साथ चले गए। हम दावे के साथ कह सकते हैं कि इन्होंने चार साल बिहार को बर्बाद करने का काम किया है। क्या बीजेपी इसकी जिम्मेदार थी? इसका मतलब चार बार अंतरात्मा सोई और जागी।’
पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें मोहरा बनाया गया और परिवार को बदनाम किया गया। वह बोले, ‘पनामा और व्यापम मामले में वह क्यों नहीं बोल रहे हैं। यह सरकार ज्यादा दिन नहीं चलने वाली है। हमको चिंता है मुख्यमंत्री जी की, कि आप फंस गए हैं। जब आप खत्म हो गए थे तो आरजेडी ने आपको पुनः जीवित किया था। बीजेपी कभी भी धोखे के बदले धोखा दे सकती है।